पश्चिम बंगाल में नैरोबी मक्खी एसिड फ्लाई के आतंक के बाद अब बिहार के किशनगंज जिले में भी फ्लाई एसिड मक्खी के आगमन से हड़कंप की स्थिति है.पश्चिम बंगाल से सटे ठाकुरगंज में इस खतरनाक मक्खी को देखा गया है. एक व्यक्ति के संक्रमित होने की भी खबर है.

पूर्वी अफ्रीका से निकली जहरीली मक्खी

हजारों किलोमीटर दूर पूर्वी अफ्रीका से निकली यह जहरीली मक्खी सिक्किम के रास्ते उत्तर बंगाल में प्रवेश की है और अब इसका असर जिले के सीमावर्ती इलाकों में दिखने लगा है. इसके फैलने की रफ्तार बहुत तेज है.

जहरीला और खतरनाक है ये एसिड फ्लाई

इसके संपर्क में आने वाले व्यक्ति की त्वचा में खुजली वाले चकते होना,आंखों के मसलने के दौरान इसका एसिड अगर आंखों के सम्पर्क में आ जाता है तो कुछ देर तक अंधेपन का आ जाना इस एसिड फ्लाई का प्रमुख के लक्षण है.जिस पर भी ये मक्खी अटैक करता है पल भर में ही इसका असर दिखना शुरू हो जाता है.

अलर्ट मोड़ पर स्वास्थ्य महकमा

इस जहरीले मक्खी के आशंकाओं के मद्देनजर जिले का स्वास्थ्य महकमा अलर्ट मोड में होने का दावा कर रहा है सिविल सर्जन कौशल किशोर प्रसाद ने बताया कि इसको लेकर ज्यादा पैनिक नही होना है.सावधानी रखने की जरूरत है.इसका उपचार है.कोई अगर इस मक्खी के संक्रमण का शिकार होता है तो वह सदर अस्पताल आकर अपना इलाज करवा सकता है.

चींटी के तरह दिखती है ये मक्खी

बताते चलें कि पूरे उत्तर बंगाल,सिक्किम में नैरोबी मक्खी का प्रकोप फैलने के बाद इस एसिड फ्लाई का प्रकोप बहुत तेजी से बढ़ रहा है.सिल्लीगुड़ी में जहां सैकड़ों लोग नैरोबी मक्खी(एसिड फ्लाई) से संक्रमित हैं. इसके फैलने की रफ्तार बहुत तेज है.वर्तमान में सिलीगुड़ी शहर के विभिन्न क्षेत्रों में इस कीड़े ने लोगों पर आक्रमण किया हैं.

काटती नहीं मक्खी, बैठने से पहुंचाती नुकसान

चींटी की तरह दिखने वाला यह कीड़ा काफी खतरनाक हैं.बताया जाता है कि ये मक्खियां काटती नहीं हैं.लेकिन,अगर मक्खी शरीर पर बैठे या चिपके तो उसे छूना नही चाहिए.छूने पर,या इसे मसलने से यह एसिड जैसे जहरीला पदार्थ छोड़ता है,जिसे पेडरिन नाम से जाना जाता है.जो बहुत हानिकारक होता है. इस पेडरिन के त्वचा के सम्पर्क में आने से यह रासायनिक जलन पैदा करता है.

आंखों को मसलना पड़ेगा महंगा

आंखों को मसलते वक्त अगर यह खतरनाक पेडरिन आंखों तक पहुंच जाता है तो कुछ देर के लिए संक्रमित व्यक्ति अंधेपन में भी चला जाता है.चिकित्सकों की सलाह है कि शरीर पर इसके बैठने या चिपकने का अगर किसी को पता चलता है तो इसे धीरे से फूंक मारकर उड़ा देना चाहिए,या फिर ब्रश करके इस एसिड फ्लाई को हटा देना चाहिए.उसके बाद त्वचा को साबुन से अच्छे से साफ कर लेना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here