नवादा: प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Famous Actor Sonu Sood) बिहार की जिस  दिव्यांग चौमुखी ईलाज के लिए आगे आए थे, मुंबई में उसकी सफल (nawada child Chahumukhi Kumari surgery successful) सर्जरी हो गई है. अब वो सुखी जीवन जी सकेगी. हालांकि कुछ दिनों के लिए बच्ची को अभी अस्‍पताल में ही रहना होगा. इसके बाद वह एक नॉर्मल बच्‍चे की तरह अस्‍पताल से बाहर आएगी.

– बिहार में 4 हाथ और 4 पैर वाली बच्ची, ‘चौमुखी’ को देख हर कोई हैरान

सोनू सूद ने उठाया पूरा खर्चाः चहुंमुखी कुमारी की सर्जरी का पूरा खर्चा सोनू सूद ने खुद उठाया है. उनके इस मानवीय कार्य की हर तरफ तारीफ हो रही है. नवादा के वारिसलीगंज के हेमदा गांव के बसंत पासवान की बेटी को जन्म से ही चार हाथ और 4 पैर थे. गरीबी की वजह से बसंत अपनी बेटी का सही तरीके से इलाज नहीं करवा पा रहे थे. चहुंमुखी की इस स्थिति की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसके बाद सोनू सूद ने इनकी मदद की.

पढ़ें- इस गांव में जन्मा 24 उंगलियों वाला बच्चा, जानें क्या कहना है डॉक्टर्स का…

पिता इलाज करवाने में सक्षम नहीं : इससे पहले जब चहुंमुखी के पिता उसका इलाज करवाने के लिए अस्पताल जाते थे, तो डॉक्टर भी उसे देख हैरान हो जाते थे. डॉक्टरों को समझ नहीं आता था कि करें तो करें क्या? धरती के भगवान ने भी इस मासूस का इलाज करने से मना कर दिया था. थक-हारकर बसंत घर बैठ गए थे. माली तौर पर बच्ची के माता-पिता काफी कमजोर हैं. पिता मजदूरी कर परिवार का पेट भरते हैं. उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वे अपनी बच्ची का महंगे अस्पताल में इलाज करवा सकें.

परिवार में चार सदस्य हैं दिव्यांग : बसंत के परिवार में पांच सदस्य हैं, जिसमें चार दिव्यांग हैं. बसंत पासवान, पत्नी उषा देवी, गोद में रही बच्ची चहुंमुखी के अलावा 11 साल का बेटा भी दिव्यांग है. इस दंपती को कुल तीन बच्चे हैंं. एक पुत्र और दो पुत्री. दोनों स्वयं दिव्यांग हैं, दो बच्चे भी दिव्यांग हैं. देखना ये है कि इस खबर के सामने आने के बाद प्रशासनिक अमला इस दिव्यांग फैमिली के लिए क्या कुछ करता है. फिलहाल इस परिवार की एक बच्ची के जीवन में तो सोनू सूद ने खुशियां भर दी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here