बिहार के अररिया जिले से महलगांव थाना क्षेत्र में एक नाबालिग आठवीं की छात्रा के साथ रेप का मामला सामने आया है। इस करतूत को किसी और ने नहीं बल्कि स्कूल के हेडमास्टर ने ही स्कूल परिसर में दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया। पीड़ित छात्रा के पिता के बयान पर महिला थाना पुलिस ने उत्क्रमित मध्य विद्यालय प्रसादपुर डुमरिया के हेड मास्टर रौशन जमीर के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया और फिर त्वरित कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी हेडमास्टर के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है। 

यह भी पढ़ें 👉सिद्धपीठ है हनुमानगढ़ी, रामलला दर्शन से पहले हनुमान आज्ञा है जरूरी

घटना के  संबंध में पीड़ित छात्रा के पिता ने दर्ज एफआईआर में कहा है कि उनकी 14 वर्षीय बेटी आठवीं कक्षा की छात्रा है। बीते 20 जून की शाम करीब सात बजे उनके मोबाइल पर हेड मास्टर रौशन जमीर ने फोन कर उनकी बेटी को स्कूल बुलाया। स्कूल पहुंचने के बाद उनकी बेटी को हेड मास्टर ने ऊपरी मंजिल के कमरे में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। 

इस दौरान गांव के ही एक युवक ने यह देख उन लोगों को इसकी सूचना दी। जब वे लोग कुछ ग्रामीणों के साथ स्कूल गए तो हेड मास्टर उनकी बेटी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पाया गया। घटना को लेकर जब वे ग्रामीणों के सामने अपनी बेटी से पूछताछ की है तो उसने बताया कि प्रधानाध्यापक रौशन जमीर पिछले तीन माह से पोशाक और राशन का लालच देकर उसकी मर्जी के खिलाफ उसके साथ शारीरिक संबंध बना रहा है। 

बताया कि हेड मास्टर रौशन जमीर ने उनका आपत्तिजनक वीडियो व फोटो खींचकर यह धमकी दे रहा था कि बुलाने पर नहीं आये तो तुम्हारा फोटो और वीडियो गांव वालों को दिखा देंगे। इसी बात के डर से वे जब भी हेडमास्टर बुलाता था तो वह चली जाती थी। पीड़िता ने कहा है कि वह दो माह की गर्भवती भी है। पीड़ित छात्रा के पिता ने बताया कि घटना के बाद उसने गांव के मुखिया व सरपंच सहित ग्रामीणों को इसकी जानकारी दी। 

पंचों ने मामले को गांव में ही रफा-दफा कर लेने की बात कही। लेकिन जब मुखिया व सरपंच ने हेडमास्टर को बुलाया तो वह पंचायती में नहीं आया और यह कहने लगे कि तुमको जो करना है करो। इसके बाद वे   सांसद प्रदीप कुमार सिंह को इसकी जानकारी दी गई। सांसद की पहल पर ही गुरुवार की देर शाम महिला थाना में एफआईआर दर्ज किया गया। महिला थानेदार रीता कुमारी ने बताया कि पीड़ित छात्रा के पिता के बयान पर एफआईआर दर्ज कर लिया गया है और आरोपी हेड मास्टर को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। छात्रा को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है। इधर आरोपी हेडमास्टर की गिरफ्तारी के बाद एसडीपीओ पुष्कर कुमार महिला थाना पहुंचकर  पूछताछ की।

नाबालिग स्कूली छात्रा से कुकृत्य हरकत करने वाले महलगांव थाना क्षेत्र के उत्क्रमित मध्य विद्यालय प्रसादपुर डुमरिया के हेड मास्टर रौशन जमीर के खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलाकर उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलाई जाएगी। एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने कहा कि घटना का एफआईआर दर्ज होते ही पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी हेड मास्टर को गिरफ्तार किया है। अब उनके खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलवा कर त्वरित सजा दिलाई जाएगी। ताकि समाज में यह संदेश जाए कि कोई इस तरह के जघन्य अपराध करने की हिम्मत जुटा नहीं पाए।क

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here