गणेश चतुर्थी का 10 दिवसीय पर्व बुधवार से श्रद्धा के साथ मनाया जाएगा। गणेश प्रतिमा घर-घर व मंदिरों में पधारकर पूजा शुरू हो जाएगी। नौ सितंबर को विसर्जन किया जाएगा। बाजार में गणेश प्रतिमा खरीदने वाले श्रद्धालुओं में उत्साह दिख रहा है।

सुबह दस बजे होगा दुग्‍धाभिषेक : Sanskar Bharti Utsav Samiti के मीडिया प्रभारी भुवनेश वार्ष्णेय आधुनिक ने बताया कि गणेश चतुर्थी के दिन 31 अगस्त को सुबह 10 बजे वार्ष्णेय मंदिर में गणेश जी का दुग्धाभिषेक होगा। शाम 6:30 बजे 10 फुट ऊंची ganesh idol installation के साथ कार्यक्रम होंगे। मुख्य अतिथि के रूप में गणपति महाराज और विशेष अतिथि के रूप में भक्त होंगे। शुभारंभकर्ता के रूप में जोगिंदर खुराना, मुख्य यजमान में वरिष्ठ भाजपा नेता राजेश भारद्वाज, जगमोहन गुप्ता, सावित्री वार्ष्णेय व अन्य रहेंगे।

गणेश चतुर्थी को लेकर होंगे कई कार्यक्रम  : Ganesh Seva Samiti की ओर से 31 अगस्त से नौ सितंबर तक कार्यक्रम होंगे। अध्यक्ष गंभीर सिंह ने मीडिया को बताया कि प्रतिदिन सुबह शाम गणेश पूजा के साथ कार्यक्रम शुरू होंगे, जो शाम तक चलेंगे। बच्चे भगवान के स्वरूप में प्रस्तुति देंगे। उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा। नौ सितंबर को भंडारा होगा। इस मौके पर पार्षद डा. मुकेश शर्मा, कन्हैया लाल गुप्ता, संजीव अरोरा, अमित अग्रवाल, पंकज गौर, मनोज कुमार, संयुक्त मंत्री राजकुमार शर्मा उपस्थित रहे।

शिव पार्वती विवाह : अचलताल स्थित गणेश मंदिर में 11 दिवसीय कार्यक्रम में तहत पहले दिन मंगलवार को शिव पार्वती का विवाह हुआ। शिव पार्वती विवाह में भक्तों ने खूब आनंद लिया। भोले तेरी भांग हम पे नाय घुटे, हर हर महादेव शिव शंभू के भजनों पर भक्तों ने नृत्य किया। मीडिया प्रभारी ललित वार्ष्णेय दीपक लाइट, अजय वार्ष्णेय, विनय वार्ष्णेय, उमेश वार्ष्णेय, कृपा देवी, विशाल वर्मा मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here