सर्वार्थ सिद्धि योग में हुआ कान्हा का जन्म नंद के घर आनंद भयो… से गंूजी राजधानी : सोमवार को भाद्रपद कृष्ण अष्टमी व्यापिनी एवं रोहिणी नक्षत्र के साथ जयंती योग में गृहस्थ एवं वैष्णव जन ने एक साथ भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया। सर्व पापों को हरने वाली जयंती योग के अतीव पुण्यकारी संयोग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग में कान्हा का जन्म हुआ।

पूरा शहर, गली मुहल्ला से मध्यरात्रि में वंशीधर के जयकारे की गूंज सुनाई दी। नंद के घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की से पूरा पटना कृष्णमय हो गया था। बड़े, बुजुर्ग, बच्चे, महिलाएं सब कृष्ण की भक्ति में सराबोर थे। सुबह से ही तैयारियां चल रही थी। मंदिरों को विशेष फूलमाला तथा लाइट-बत्ती से मनमोहक सजावट की गयी थी। आधी रात के समय घंटी, शंख, मृदंग, ढोल, झाल आदि बजाते हुए भगवान लड्डू गोपाल की विधिवत जन्म कराकर गंगाजल, पंचामृत आदि से स्नान फिर नए वस्त्र, आभूषण, केसर युक्त चंदन का लेप, नाना प्रकार के फूल माला, इत्र, धुप-दीप, माखन-मिश्री के साथ ऋतुफल, मिष्ठान, मावा, पंजीरी आदि का भोग के बाद आरती उतारी गयी। पूरी राजधानी मानों वृन्दावन और मथुरा बना हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here