दरभंगा:- उत्तर बिहार के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान डीएमसीएच में वैसे तो वर्षों से कई कीमती उपकरण धूल फांक रहे हैं, पर अब यह एयर कंडीशनरों का भी कब्रगाह बन गया है। अस्पताल प्रशासन से जुड़े अधिकारियों के चैम्बर के एसी तो खूब ठंढक पहुंचा रहे हैं, लेकिन मरीजों की सुविधा के लिए लगाए गए एसी चलने का नाम नहीं ले रहे हैं। एसी के बिना विभिन्न आईसीयू में इलाजरत मरीज भीषण गर्मी में बिलबिलाने को मजबूर हैं। मेडिसिन विभाग के आईसीसीयू और हाई डिपेंडेंसी वार्ड के सभी एसी महीनों से खराब हैं। आईसीयू में भीषण गर्मी के कारण इलाजरत मरीज पसीने से तरबतर रहते हैं। गर्मी से चिकित्सकों व नर्सों को भी परेशानी झेलनी पड़ती है। मरीजों को राहत पहुंचाने के लिए कई परिजन घर से टेबल फैन ले आते हैं। एसी दुरुस्त करने के लिए मेडिसिन विभाग की ओर से अधीक्षक कार्यालय को कई पत्र लिखे जा चुके हैं। बावजूद इसके उन्हें दुरुस्त कराने की दिशा में कोई करवाई नहीं की जा रही है। शिशु रोग विभाग के एनआरसी और पीकू का भी यही हाल है। वहां के अधिकतर एसी के बेकाम रहने की वजह से भीषण गर्मी में पूरा भवन तपने लगता है। कई कर्मी बताते हैं कि गर्मी से बिलबिला रहे बच्चों को ठंडक पहुंचाने के लिए रात को हॉल से बाहर निकालना पड़ता है। वहां लगे अधिकतर एसी खराब पड़े हैं। उन्हें दुरुस्त कराने का आग्रह अधीक्षक कार्यालय से किया गया है। इस संबंध में डीएमसीएच उपाधीक्षक डॉ. बालेश्वर सागर ने कहा कि एसी दुरुस्त कराने के लिए फिलहाल आवंटन नहीं है। दूसरे मद से उन्हें दुरुस्त कराने का प्रयास किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here