आफत की मूसलाधार वारिष से क्षेत्र के प्रमुख कदाने व नुन नदिया ने अपनी उफान भरके विकराल रूप ले लिया है.नदियों के तटवर्ती पंचायतों में इनके उफान से कइयों के आशियाने जल में विलीन हो गया. जगरनाथपुर पंचायत के वार्ड 07 दामोदरपुर गॉव स्थित महादलित टोला में मानती देवी,हेमंती देवी,लाला राम,कुशेश्वर राम,तसउर अली,साजदा खातुन आदि ने बताया 100 सौ ज्यादा परिवार लगभग एक हजार से ज्यादा की आबादी इससे भीषण प्रभावित है.

इन टोला निवासियों को सड़क सम्पर्क टूट चुका है. चारो तरफ बाढ़ का डरावनी पानी ही दूर तक दिखाई देता है.पीड़ितों में त्राहिमाम मचा है.बीमारों और गर्भवती में प्रसव पीड़ा परिवारों में कोहराम मचा है. मानती देवी ने बताई कई दिनों से खाना नही खाया है, वही खड़ी उनकी मासूम पुत्री रानी ने बताई चूड़ा मीठा मम्मी खिलाती है. हेमंती देवी ने बतायी परिवार संग घर में मचान बनाकर रहते है.पतोह रागनी देवी के प्रसव पीड़ा शुरू हो गयी अस्पताल कैसे पहुचाये इसको लेकर घर मे चीख पुकार मच गयीं.

ग्रामीणों के सहयोग से चारपाई पर लादकर करीब एक किलोमीटर पर गर्भवती महिला को टेम्पो गाड़ी से अस्पताल ले गयी थी.यहां के हालात अच्छे नही होने से होने पर पतोह के बहन के घर गोरौल में जच्चा बच्चा दोनो को रखें है.वही घटना पड़ोस के गर्भवती खुशबू देवी के साथ है.पानी में रहने से पैर में गहरे जख्म हो गए है वही टोला में दर्जन भर से ज्यादा बीमार है.

flood in bihar

पीड़ितों ने बताया दक्षणी दिशा में 500 मीटर की दूरी पर लोगों पुलिया व नाले को जाम कर अपना मकान बना लेने से पानी का निकासी नही हो पा रहा है.पानी के निकासी नही होने से लगभग एक किलोमीटर में बसें हजारों की आबादी भारी जलजमाव ग्रसित है. प्रसासन को सूचना देने के बाद भी समस्या जस की तस है.डरावनी पानी के बीच सांप ,बिच्छु, समेत अन्य जलीय बीसदंस से हम सभी भयभीत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here