चकमेहसी। बागमती के जलस्तर में वृद्धि होने से चकमेहसी में निचले हिस्सों में स्थित चौर में बाढ़ का पानी प्रवेश करने लगा है। इससे बागमती वाटरवेज बांध के अंदर बसे सोरमार, डरोरी, परना, रतनपुर आदि जगह स्थित चौर बाढ़ का पानी फैलने लगा है। इससे किसानों ने राहत की सांस ली है। किसानों का कहना है कि इस बार बाढ़ का पानी नही आने व बारिश नही होने से चौर के खेत सूखने लगे थे।

जिससे कारण अक्टूबर प्लांट व गेहूं की फसल करने में परेशानी होती। लेकिन देर से सही बाढ़ आने से किसानों ने राहत की सांस ली है। रतनपुर के किसान पंकज ठाकुर, शंकर कर्जी, डरोरी के किसान रामनरेश ठाकुर आदि ने बताया कि इस बार अच्छी बारिश नही होने व बाढ़ का पानी नहीं आने से खेत सूख गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here