बिहार के हाजीपुर में बाइक सवार पुलिसकर्मी के बैग से शराब की बोतलें मिलने की घटना सामने आई है, जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने पुलिसकर्मी को बंधक बनाकर जमकर धुनाई की और फिर बाद में पुलिस को बुलाकर उसे सौंप दिया। ये घटना महुआ-पातेपुर के महुआ थाना अंतर्गत जिड़वारा मरीचा की है। 

बताया जा रहा है कि एक बाइक सवार पुलिसकर्मी पातेपुर की ओर से महुआ तरफ आ रहा था। इस बीच सब्जी खरीदकर लौट रहे युवक से पुलिसकर्मी की बाइक टकरा गई, जिसके बाद पुलिसकर्मी बाइक सहित गिर पड़ा। इस बीच लोगों की भीड़ जुट गई। लोगों ने जब पुलिसकर्मी के बैग को देखा तो उसमें शराब की बोतलें भरी थीं। जिसमें गिर जाने के बाद कई फूट गई। यह देखते ही लोग उग्र हो गए और उसे बंधक बनाकर धुनाई शुरू कर दी। आक्रोशित लोगों का कहना था कि वर्दी वाले ही इस तरह का घिनौने कार्य करते हैं। पुलिस शराब को लेकर कई निर्दोषों को भी फंसाती है और खुद इस तरह की हरकत कर रही है। इस बीच घटनास्थल पर हुजूम उमड़ पड़ा और सड़क कुछ देर के लिए जाम हो गई।

शराब के साथ पकड़ा गया पुलिस कर्मी पातेपुर थाने में बीएमपी के पद में पदस्थापित है। वह 5 दिनों की छुट्टी लेकर बाइक से ही घर नालंदा जा रहा था। नालंदा जाने के क्रम में महुआ थाना अंतर्गत जिड़वारा मरीचा के पास सामने से आ रहे एक बाइक में उसकी टक्कर हो गई। पुलिसकर्मी के बैग में लोगों ने शराब की बोतलें पाईं। थानाध्यक्ष कृष्णानंद झा ने बताया कि पुलिसकर्मी पातेपुर थाने में बीएमपी में कार्यरत है। वह 5 दिनों की छुट्टी पर अपने घर नालंदा लौट रहा था। 

उन्होंने यह भी बताया कि वर्दीधारी बीएमपी के जवान नालंदा निवासी वरुण प्रसाद के पुत्र सूरज कुमार है, जिसके बैग से 750 एमएल की 15 बोतल शराब पकड़ी गई है। जबकि शराब से भरी 5 बोतलें फूट गई। उसे गिरफ्त में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि वर्दीधारी जवान का कहना है कि उसके साथ बैग लेकर कोई दूसरा व्यक्ति बैठा था, जो घटना के बाद भाग गया। उन्होंने बताया कि कार्रवाई करते हुए वरीय पदाधिकारियों को भी लिखा गया है और जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here