मौके पर पुलिस और विलाप करते मृतका के परिजन भागलपुर के बबरगंज थाना क्षेत्र के हुसैनाबाद मोगलपुरा मोहल्ले में सोमवार को जदयू के नगर महासचिव के बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. गोली चलाने वाले में अपराधियों के साथ एक महिला भी शामिल है. मृतका आठ महीने की गर्भवती थी. वहीं पुलिस के सामने ही महासचिव को पूरे परिवार को खत्म करने की धमकी दी गयी.

पूरी घटना को अंजाम फेकू मियां के बेटे टिंकू मियां के गैंग ने दिया. अपराधियों ने घर में घुस कर एक गर्भवती महिला की गोली मार कर हत्या कर दी. हैरत की बात है कि हत्याकांड में गोली चलाने वालों में टिंकू मियां के भाई जेल में बंद इम्तियाज की पत्नी जेबा खातून भी शामिल है. घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों में अधिकांश कई कांडों का फरार अभियुक्त भी है.

अपराधियों के बढ़े मनोबल का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हत्या करने के बाद टिंकू मियां ने खुद मृतका के पिता जदयू के नगर महासचिव आरिफ खान को फोन कर धीरे-धीरे कर पूरे परिवार के सदस्यों की हत्या कर देने की धमकी दी. इस घटना के बाद एक बार फिर से भागलपुर में बड़े गैंगवार की आशंका जतायी जा रही है. घटना के बाद एएसपी सिटी ने आधा दर्जन थानों की पुलिस के साथ मोगलपुरा सहित हुसैनाबाद के इलाकों में छापेमारी की. देर शाम तक मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं कर सकी.

मायागंज अस्पताल में रखे मृतका काजल के शव को विधि व्यवस्था बिगड़ने की आशंका पर पुलिस ने अानन-फानन में शव का इंक्वेस्ट तैयार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. खबर लिखे जाने तक मामले में मृतका के परिवार के लोगों ने केस दर्ज कराने को लेकर किसी भी प्रकार का आवेदन बबरगंज थाना पुलिस को नहीं दिया था.

अंदरखाने से खबर आ रही है कि गैंगवार में पहली बार हुई महिला की हत्या ने एक बार फिर से निष्क्रिय हो चुके सल्लन, फेकू व अंसारी गैंग को जगा दिया है. इधर, शहर में अब तक ऐसी लेडी डॉन का फेस सामने नहीं आया है, जो गैंगवार में फायरिंग करने के लिए मौके पर आये.

हत्या करने वाले गैंग के सरगना के बढ़े हुए मनोबल का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हत्या के बाद टिंकू ने मृतका काजल के पिता और पड़ोसी जदयू नगर महासचिव को फोन कर धमकी दी. जिस वक्त फोन आया उस वक्त आरिफ के आसपास इशाकचक थानाध्यक्ष प्रशिक्षु डीएसपी सहित तीन थानों की पुलिस मौजूद थी.

टिंकू ने धमकी देते हुए कहा कि पुलिस की मुखबिरी करना छोड़ दो, अभी बेटी को मारा है, धीरे-धीरे पूरे परिवार को खत्म कर देंगे. आरिफ ने फोन एक पुलिस पदाधिकारी को थमा दिया. पुलिस ने मोबाइल नंबर को तुरंत सर्विलांस पर डाल दिया. हालांकि टिंकू मियां नहीं पकड़ा गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here