मुख्यमंत्री के जनता दरबार कार्यक्रम को लेकर कलेक्ट्रेट कार्यालय प्रकोष्ठ में अधिकारियों की बैठक बुधवार को हुई। इसकी अध्यक्षता डीएम शशांक शुभंकर ने की। इसमें जनता दरबार में जाने वाले आवेदकों से संबंधित व्यवस्था को लेकर मंथन किया गया। डीएम कहा कि बिहार सरकार द्वारा आवेदन के लिए मोबाइल ऐप जेकेडीएमएम का निर्माण कराया गया है, जिसके माध्यम से जनता दरबार में आने वाले आवेदकों की इंट्री होगी।

आवेदन की व्यवस्था जिले में की गई है। इसमें आवेदकों को मोबाइल ऐप में इंट्री करवाने के लिए मोबाइल नंबर और आधार कार्ड लाना होगा और इसके संचालन की जवाबदेही आईटी प्रबंधक को दी गयी है। वहीं जनता दरबार में जाने से पहले आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य है। इसके लिए सीएस एवं डीआईओ को निर्देश दिया गया है। विशेष कार्य पदाधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि यात्रा कर रहे लोगों के पास उनका कोविड19 जांच आरटीपीसीआर रिपोर्ट है या नहीं। जनता दरबार में जाने के लिए 40 सीटर बस की व्यवस्था करने का निर्देश डीटीओ को दिया गया। जितने लोग समस्तीपुर से जाएंगे उनके नाश्ता, भोजन, पानी आदि की व्यवस्था नजारत उप समाहर्ता सुनिश्चित कराएंगे। समस्तीपुर में अन्य जिला किशनगंज और पूर्णिया के लोग भी आएंगे। उनके भोजन व पानी आदि की व्यवस्था भी की जाएगी। साथ ही उनके ठहरने की व्यवस्था नजारत उप समाहर्ता एवं सीएम पीएम पोर्टल प्रभारी पदाधिकारी सुनिश्चित कराएंगे। मौके पर डीटीओ राजेश कुमार, डीआईओ डॉ. सतीश कुमार सिंहा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नगर निगम कर्मियों का स्थानांतरण रद्द

समस्तीपुर। समस्तीपुर नगर निगम के कर्मियों का दरभंगा नगर निगम में स्थानांतरण आदेश नगर विकास विभाग ने रद्द कर दिया है। इस संबंध में आदेश आने के बाद नगर समस्तीपुर नगर निगम में आने के बाद स्थानांतरित कर्मी अपनी जगह पर बने रह गए। नगर निगम के प्रधान सहायक सह लेखापाल के अलावा प्रभारी सफाई निरीक्षक व कर दारोगा का स्थानांतरण दरभंाग नगर निगम में किया गया था। प्रधान सहायक को छोड़ बाकी दोनों कर्मियों ने दरभंगा नगर निगम में योगदान भी दे दिया था उसके बाद स्थगन आदेश आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here