सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र से मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। शनिवार की रात चोरी की नियत से आए एक युवक को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। सूचना मिलने पर आए पप्पू के ससुर मदन यादव और डोमी यादव वहां पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें भी बंधक बना लिया। आनन फानन में हुई पंचायत में उन्हें तालिबानी सजा सुनाई गई। उसके हाथ पैर बांधकर बेरहमी से पिटाई की गई। युवकों के सिर का बाल मुड़ दिया गया। उसके बाद सिर पर चूना से 420 लिख दिया गया। फिर रस्सी से बांधकर पूरे गांव में घुमाया गया। सोशल मीडिया पर जब वीडियो वायरल हुआ तब पुलिस उसे किसी तरह भीड़ से बचा कर थाना ले आई। युवक के पास से देसी पिस्तौल भी बरामद हुआ है।

बताया जा रहा है कि बहरकुरवा में शनिवार की रात ग्रामीणों ने दपरखा वार्ड 13 निवासी पप्पू यादव को पकड़ लिया। उसके पास से एक पिस्तौल भी मिली। आरोप था कि वह बकरी चुराने आया था। सूचना मिलने पर आये पप्पू के ससुर मिरजावा वार्ड 8 निवासी मदन यादव और डोमी यादव वहां पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें भी बंधक बना लिया। इसके बाद तीनों के हाथ पैर बांधकर चौकी पर लेटा कर उनकी जमकर पिटाई की गई। इसके बाद तीनों के सिर के बाल मुड़कर उस पर 420 लिख दिया गया और पूरे गांव में घुमाया गया। सूचना मिलने पर रविवार सुबह 7 बजे पुलिस वहां पहुंची और पप्पू को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाकर थाना ले आई। मदन और डोमी अभी भी ग्रामीणों के कब्जे में हैं।

प्रभारी थानाध्यक्ष बैजू कुमार ने बताया कि पकड़ाए युवक के साथ ही अमानवीय व्यवहार के दोषी को फुटेज के आधार पर चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एसडीपीओ गणपति ठाकुर ने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। पुलिस को साक्ष्य जमा करने व दोषी को चिन्हित करने का निर्देश दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here