उत्तर बिहार में अगले पांच दिन तक मानसून के सक्रिय रहने की संभावना है. इस दौरान आसमान में मध्यम से घने बादल छाये रह सकते हैं. इससे अच्छी बारिश की संभावना है. आमतौर पर तराई व मैदानी भागों के जिलों में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है. कुछ स्थानों पर भारी बारिश भी हो सकती है. वहीं मानसून (Monsoon) की सक्रियता और नेपाल में हो रही बारिश से कई जिलों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है.

वहीं दो-तीन अगस्त को पूर्वी व पश्चिम चंपारण के जिलों में भारी बारिश की संभावना बनी हुई है. अधिकतम तापमान 28-33 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है, जबकि न्यूनतम तापमान 22-24 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है. आर्द्रता सुबह में 85 से 90 प्रतिशत व दोपहर में 65 से 75 प्रतिशत के बीच रहने की संभावना है. 14 से 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ अगले दो से तीन दिनों तक पूरबा हवा व उसके बाद पछिया हवा चलने का अनुमान है.

दिनभर रुक-रुक कर होती रही बारिश- शुक्रवार को दोपहर में मौसम का मिजाज बदला. आसमान में बादल छाने के साथ हल्की हवा चलने लगी. कुछ ही देर में हल्की बारिश शुरू हो गयी. दिन से लेकर देर रात तक हल्की बारिश व बूंदाबांदी होती रही. इससे उमस वाली गर्मी से राहत मिली. अधिकतम तापमान 32.4 डिग्री और न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. मौसम वैज्ञानिक डॉ गुलाब सिंह ने बताया कि अगले पांच दिनों तक मॉनसून सक्रिय रहेगा. इससे अच्छी बारिश होने की संभावना है.

नेपाल की बारिश से नदियां उफान पर- वहीं नेपाल में हो रहे लगातार बारिश से बिहार के सीमावर्ती जिलों की नदियां उफान पर है. जानकारी के अनुसार, बिहार की बागमती और गंडक नदी में पानी रेड लाइन के करीब पहुंच चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here