नेपाल में हो रुक-रुक कर हो रही बारिश से होने से गंडक नदी में उफनाने लगी है. पिछले 24 घंटे में 38 सेमी पानी का लेवल बढ़ा है. खतरे के निशान से नदी फिर एक मीटर से ऊपर पहुंच गयी. नेपाल में बारिश की वजह से तराई इलाकों में बाढ़ का खतरा फिर से मंडराने लगा है.

जानकारी के अनुसार नेपाल (Nepal) के जलग्रहण क्षेत्र व जिले में हो रही बारिस के कारण नदियों के जलस्तर में एक बार फिर उतार-चढ़ाव होने लगा है.

चंदौली व कटौझा में बागमती नदी के जलस्तर में वृद्धि दर्ज किया गया है. जबकि ढेंग, सोनाखान व डुब्बाघाट में बागमती के जलस्तर में गिरावट हो रही है. जिला बाढ़ (Flood) आपदा नियंत्रण कक्ष के रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को सोनबरसा में झीम नदी का जलस्तर 77.79 मीटर, पुपरी में अधवारा नदी का जलस्तर 54.45 मीटर व गोआवाड़ी में लालबकया नदी का जलस्तर 69.70 मीटर पर स्थिर बना हुआ है.

इधर, उत्तर बिहार में अगले दो दिन तक मौसम में उतार चढ़ाव होने की संभावना है. आसमान में बादल छाये रहने के साथ बारिश की संभावना बनी हुई है. शुक्रवार को कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. वहीं कुछ स्थानों पर भारी बारिश के भी आसार है. बारिश (Rain) के दौरान तेज हवा भी चल सकती है. वहीं कुछ स्थानों पर बिजली गिरने की भी संभावना बनी हुई है.

इन जिलों को सबसे अधिक खतरा– नेपाल की बारिश से अगर बिहार की नदियों (Bihar Rivers) में बाढ़ आती है तो, सबसे अधिक बिहार के बॉर्डर वाले जिले प्रभावित होंगे. बिहार के मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी, मोतिहारी, बेतिया, मुजफ्फरपुर और गोपालगंज में बढ़ का खतरा बढ़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here