पटना सर्राफा बाजार में 22 जुलाई को सोने की कीमत में गिरावट रही।

सोना 540.0 रुपये की गिरावट के साथ 48,660.0 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया। 21 जुलाई को भाव 49,200.0 रुपये पर बंद हुआ था।

चांदी 120.0 रुपये गिर कर 120.0 रुपये प्रति किलोग्राम पर बोली गई। पिछला बंद भाव 68,790.0 रुपये प्रति किलोग्राम का था।

गहने खरीदते समय हॉलमार्क का विशेष ध्यान रखें। हॉलमार्किंग से इस बात की गारंटी होती है कि जो सामान दुकानदार ने ग्राहक को बेचा है, वह उतने ही कैरेट का है, जिनता आभूषण पर लिखा है। हॉलमार्किंग भारतीय मानक ब्यूरो अधिनियम के तहत होती है।

हॉलमार्किंग कीमती धातु सामग्रियों में उस धातु की आनुपातिक सामग्री का सटीक निर्धारण और आधिकारिक रिकॉर्ड है। हॉलमार्किंग खरीदारों को सोना की असली-नकली पहचान करने में मदद करके उनके हितों की रक्षा करती है। ना और चांदी की कीमतों में लगातार उतार-चढ़ाव आता है। सोना और चांदी लोग आभूषण के अलावा निवेश की दृष्टि से खरीदते हैं। डिमांड बढ़ने पर सोने और चांदी की कीमत बढ़ जाती है।

भारत अपनी खपत का अधिकतर सोना विदेशों से आयात करता है। इसलिए वैश्विक गतिविधियों और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमतों में उतार चढ़ाव का असर सोने-चांदी की कीमतों पर पड़ता है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा सोना आयातक है। आभूषण उद्योग की मांग पूरा करने के लिए बड़ी मात्रा में सोना विदेशों से मंगाया जाता है। भारत में सालभर में करीब 800-900 टन सोने का आयात किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here