बिहार में मानसून की सक्रियता की वजह से अब भी बारिश की स्थिति बनी हुई है। अभी मानसून ट्रफ गया से होकर गुजर रही है और असम की ओर चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र बना है। एक और चक्रवातीय परिसंचरण का क्षेत्र उत्तर पश्चिम उतर प्रदेश की ओर बना है। 

इसकी वजह से सूबे में बारिश का सिस्टम अभी सक्रिय है। मौसम विभाग की ओर से इन मौसमी सिस्टम के आधार पर अनुमान किया गया है कि अगले 24 घंटों में उत्तर पश्चिम बिहार में एक-दो जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। उत्तर बिहार के जिलों में मेघ गर्जन और आकाशीय बिजली की गतिविधियां में दक्षिण बिहार की अपेक्षा ज्यादा रहेंगी। साथ ही दक्षिण बिहार सहित पूरे सूबे में हल्की से मध्यम बारिश की स्थिति बनी रहेगी। पटना में भी हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान किया गया है। 

इधर, सोमवार को पटना, गया सहित मध्य बिहार के कई जिलों में मौसम साफ रहा। दिन में धूप निकली और पारा ऊपर चढ़ा। मुजफ्फरपुर में झमाझम बारिश हुई। यहां लगभग 35 मिमी बारिश दर्ज की गई। पटना, गया, भागलपुर, पूर्णिया में बारिश की स्थिति नगण्य रही। उत्तर बिहार में कुछ जगहों पर भारी बारिश पिछले 24 घंटों में दर्ज हुई है। इनमें बहादुरगंज में 120 मिमी बारिश हुई जबकि भीमनगर और ढेंगब्रिज में 90 मिमी, पटना में 80 मिमी, जहानाबाद में 70 जबकि घोसी और गोरौल में 60 मिमी बारिश हुई। मौसमविदों के अनुसार बारिश का सिस्टम सक्रिय होने से अभी सूबे में बारिश की स्थिति देखी जाएगी। अगले तीन दिन अधिकतर जिलों के लिये येलो अलर्ट है। 

ऐसा रहा प्रमुख शहरों का मौसम
पटना में दिन में धूप खिलने से पारा ऊपर चढ़ा। अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री सेल्सियस, गया में 34.3, भागलपुर में 33.9 जबकि पूर्णिया में 33.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। बारिश न होने से दिन में गर्मी रही। आसमान में आंशिक बादल रहे लेकिन कहीं भी बूंदाबांदी नहहीं हुई। मंगलवार को पटना में भी हल्की से मध्यम बारिश के आसार जताए गए हैं। आसमान में आंशिक बादल रहेंगे। धूप निकलेगी लेकिन उमस बढ़ने से पसीने वाली गर्मी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here