पीएम किसान योजना के लाभार्थियों के लिए एक बड़ी खबर है. केंद्र सरकार पीएम किसान सम्मान निधि के रजिस्ट्रेशन में बदलाव करने जा रही है. पीएम किसान योजना में होने वाले इस बड़े बदलाव के बाद अब रजिस्ट्रेशन कराते वक्त राशन कार्ड देना जरूरी हो जाएगा.

क्यों बनाया गया ये नियम

बता दें कि, सरकार ने पीएम किसान निधि योजना में हो रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए यह बड़ा बदलाव किया है. अब आपको रजिस्ट्रेशन करते वक्त राशन कार्ड को भी अपलोड करना होगा वरना आपको अगली किस्त का लाभ नहीं मिलेगा. साथ ही सरकार ने योजना का ई-केवाईसी करना भी अनिवार्य कर दिया है.

पीएम किसान योजना के तहत आपको अपने राशन कार्ड की पीडीएफ कॉपी को पोर्टल पर अपलोड करना होगा. इसके साथ ही अब आधार कार्ड, खतौनी, बैंक पासबुक आदि की हार्ड कॉपी को जमा करने की अनिवार्यता भी खत्म कर दी गई है. इसके बाद आपको केवल रोशन कार्ड अपलोड और ई-केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा करना होगा. इसके बाद आपको इस योजना का लाभ मिलने लगेगा.

बता दें कि, सरकार ने किसानों को ई-केवाईसी कराने के लिए 31 जुलाई 2022 तक का समय दिया है. जिन किसानों से इस प्रक्रिया को पूरा नहीं किया है उन्हें 11 वीं किस्त का भी लाभ नहीं मिला है.

क्या है पीएम किसान योजना

देश के किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पीएम किसान सम्मान निधी नाम की योजना को संचालित किया जा रहा है. पीएम किसान सम्मान निधि किसानों के लिए चलाई जा रही सबसे अच्छी और महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक है. पीएम किसान सम्मान में केंद्र सरकार द्वारा किसानों को हर साल 6 हजार रुपये की रकम दी जाती है. जिसे कि हर साल तीन किश्तों के तहत किसानों के खाते में जमा किया जाता है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here