डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विवि के डीन (बेसिक साइंस) डॉ. सोमनाथ राय चौधरी ने कहा कि मशरूम उत्पादको का ईमानदार प्रयास, विवि की तकनीक, सरकार का सहयोग व तकनीकी ज्ञान प्रसार में मीडिया के सहयोग ने बिहार को मशरूम उत्पादकों की श्रेणी मे देश में पहले स्थान पर पहुंचा दिया है। जरूरत है इसे और गति देने की। जिससे अधिक से अधिक लोग स्वरोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर होकर आर्थिक समृद्धि पा सकें।वे बुधवार को विवि के बेसिक साइंस के सभागार में प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित कर रहे थे। मौका था बटन मशरूम तकनीक विषय पर सात दिवसीय प्रशिक्षण के उद्घाटन सत्र का। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों को विवि का राजदूत बनकर कार्य करने की सलाह दी। मशरूम वैज्ञानिक डॉ. दयाराम ने कहा कि मशरूम क्षेत्र को और गति देने के लिए उससे जुड़े कार्यो को बढ़ावा देने की जरूरत है।

इस दौरान प्रशिक्षणार्थी शशि बाला वर्मा ने अपने के अनुभवो को शेयर करते हुए ईमानदारी से कार्य करने की जरूरत बताया। वहीं राजा कुमार ने मशरूम क्षेत्र को गति देने वाले डॉ. दयाराम पर डाक्यूमेंट्री बनाने पर बल दिया। मोके पर प्रशिक्षणार्थियों के बीच प्रमाण-पत्र वितरित की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here