अनलॉक 4 में बिहार में उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की छूट मिल सकती है। सात जुलाई से अनलॉक-4 लागू होगा। शुरुआत में विश्वविद्यालयों, कॉलेजों और शोध संस्थानों को खोलने की अनुमति दिये जाने की उम्मीद है। अनलॉक-4 को लेकर शनिवार को सभी जिलाधिकारियों से मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण ने फीडबैक भी लिया है। अनलॉक 4 में क्या किया जाना चाहिए, अभी संक्रमण की क्या स्थिति है, इन बिंदुओं पर चर्चा हुई।

जानकारी के मुताबिक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई इस बैठक में अधिकांश की यह राय थी कि पूरी तरह से अनलॉक किये जाने से कोरोना संक्रमण बढ़ने का अभी खतरा है। इसलिए अनलॉक-3 में लागू प्रतिबंधों में थोड़ी और सहूलियतों के साथ अनलॉक-4 लागू किया जाना चाहिए। मुख्य सचिव द्वारा सभी जिलों और विभागों के विचारों और सुझावों से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अवगत में थोड़ी और सहूलियतों के साथ कराया जाएगा। इसके बाद मुख्यमंत्री के अनलॉक-4 लागू किया जाना चाहिए। स्तर से मंत्रीगण और पदाधिकारियों की मुख्य सचिव द्वारा सभी जिलों और बैठक के बाद अनलॉक-4 पर अंतिम विभागों के विचारों और सुझावों से निर्णय लिया जाएगा, जो सात जुलाई से प्रभावी होगा।

दुकानों को खोलने के मामले में भी और रियायतें दी जा सकती हैं। सभी तरह की दुकानों को सातों दिन खोलने के साथ-साथ इसे खुला रखने के समय में बढ़ोतरी करने पर भी विचार चल रहा है। अभी दुकानों को शाम सात बजे तक खुला रखने की अनुमति है। खाने पीने कृषि से संबंधित दुकानें व आवश्यक वस्तुओं को छोड़ अन्य दुकानों को एक दिन बीच करके खोला जा रहा है।

शादी समारोह में भी रियायत की उम्मीद
शादी समारोह में अभी 25 लोगों तक की उपस्थिति की अनुमति है। साथ ही, डीजे और बारात जुलूस पर पूरी तरह रोक है। अनलॉक 4 में शादी समारोह में रियायतें मिलने की उम्मीद है। समारोह में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को और अधिक बढ़ाया जा सकता है। इसी तरह अंतिम संस्कार, श्राद्ध कार्यक्रम में भी उपस्थित होने वाले लोगों की संख्या को और बढ़ाया जा सकता है।

150 से अधिक संक्रमित रोज मिल रहे
गौरतलब हो कि पांच मई से सबसे पहले राज्य में लॉकडाउन लगाया गया। इसके बाद से कोरोना संक्रमण तथा इसकी दर में कमी आई है। इसके बाद अनलॉक-1 की शुरुआत 16 जून से की गई। हालांकि अभी भी पिछले सप्ताह भर से राज्य में प्रतिदिन 150 से अधिक कोरोना के नये संक्रमित मिल रहे हैं। इस अनुपात से भी महीने में पांच-छह हजार संक्रमित हो जाएंगे। ऐसे में अभी भी पूरी तरह से एहतिहात बरतने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here