बिहार के 72 हजार प्रारंभिक विद्यालयों के दो लाख 56 हजार 896 शिक्षकों को दीवाली से पहले वेतन मिलेगा। शिक्षा विभाग पंचायती राज एवं नगर निकाय शिक्षकों को वेतन देने की तैयारी में है। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों से शिक्षकों के वेतन पर खर्च होने वाली राशि की जानकारी दो दिनों में देने को कहा है। इससे पहले समग्र शिक्षा योजना के तहत  कार्यरत प्रारंभिक शिक्षकों के वेतन के लिए पहले ही राशि उपलब्ध करायी जा चुकी है। सरकार की इस कवायद से पर्व से पहले शिक्षकों के घरों में खुशी है। प्रदेश के शिक्षा विभाग ने एक और बड़ा फैसला लिया है। यह फैसला प्रारंभिक विद्यालयों में शिक्षा समिति से जुड़ा हुआ है। यहां आप शिक्षा विभाग से जुड़ी तीन खबरें पढ़ सकेंगे।

संकुल समन्‍वयक की जगह लेंगे प्रधानाध्‍यापक

बिहार के प्रारंभिक विद्यालयों में गठित होने वाली विद्यालय शिक्षा समिति में अब संकुल समन्वयक की जगह प्रधानाध्यापक लेंगे। इस संबंध में बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक श्रीकांत शास्त्री ने सोमवार को आदेश जारी किया। उन्होंने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को  विद्यालय शिक्षा समिति का गठन शीघ्र करने का आदेश दिया है। यहां बता दें कि पिछले दिनों राज्य सरकार ने पांच हजार संकुल समन्वयक के पदों पर प्रतिनियुक्त शिक्षकों को विरमित करने हुए उन्हें मूल विद्यालय में योगदान करने का आदेश दिया था। पहले संकुल समन्वयक के पद पर शिक्षक कार्यरत थे। जिनकी जगह अब प्रधानाध्यापक होंगे।

इंस्पायर अवार्ड के लिए 38 हजार 679 आवेदन

केंद्र सरकार की इंस्पायर अवार्ड स्कीम में इस बार प्रदेश भर से 38 हजार 679 आवेदन आए हैं। विज्ञान विषय में आइडिया शेयर करने वाले युवाओं को प्रतियोगिता के माध्यम से चयन किया जाता है और पुरस्कार स्वरूप दस-दस हजार रुपये के साथ प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here