राज्य निर्वाचन आयोग की अनुशंसा के आलोक में विभिन्न पदों के लिए 11 चरणों में चुनाव के लिए मंत्रीपरिषद की स्वीकृति के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी हलचल तेज हो गई है। चुनाव की अधिसूचना 24 अगस्त को जारी की जाएगी। इसी के साथ उसी दिन से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी। अधिसूचना के बाद जिले में प्रखंडवार अलग-अलग चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। मंत्रिपरिषद से हरी झंडी के बाद चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। इसी के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी सरगर्मी तेज हो गई है। इस जंग में ताल ठोकने की इच्छा रखने वालों की चहलकदमी बढ़ने लगी है। इस चुनाव में त्रिस्तरीय पंचायत के चार तथा ग्राम कचहरी के दो पदों के मतदान के लिए चरणवार तिथि भी घोषित कर दी गई है।

जिले में नौ चरणों में चुनाव की संभावना

जिला प्रशासन द्वारा राज्य निर्वाचन आयोग से 9 चरणों में चुनाव की अनुशंसा की गई है। जबकि मंत्रिपरिषद द्वारा 11 चरणों में निर्वाचन संपन्न कराने की स्वीकृति दी गई है। इससे पहले आयोग द्वारा 10 चरणों में मतदान कराने की तैयारी की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के मुताबिक प्रथम चरण में राजपुर, द्वितीय चरण में डुमरांव, तृतीय चरण में इटाढ़ी तथा चतुर्थ चरण में नावानगर व केसठ में चुनाव की संभावना है। जबकि पांचवें चरण में सदर (बक्सर), छठे चरण में चक्की व चौगाईं, सातवें चरण में चौसा, आठवें चरण में ब्रह्मपुर तथा नौवें चरण में सिमरी में निर्वाचन हेतु अनुशंसा की गई है।

ग्राम पंचायतों की संख्या

जिले में ग्राम पंचायतों की संख्या पहले से कम हो गई है। इससे पहले जिले में 142 ग्राम पंचायतें थीं। लेकिन, नए सिरे से नगर निकायों के परिसिमन के बाद पंचायतों की संख्या घटकर अब 134 हो गई है। ऐसे में जिला परिषद सदस्यों की संख्या को छोड़कर मुखिया, वार्ड सदस्य व पंचायत समिति सदस्य की संख्या घटी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here