बिहार में पंचायत चुनाव के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर करीब दो लाख मतदानकर्मियों को कोरोना किट उपलब्ध करायी जाएगी। राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से मतदानकर्मियों को कोरोना किट जिलों में बांटी जाएगी। कोरोना किट में मॉस्क, सेनेटाइजर, फेसशील्ड व अन्य आवश्यक सामग्री दी जाएगी। 

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि पंचायत चुनाव को लेकर मॉस्क, सेनेटाइजर, फेसशील्ड व अन्य सामग्रियों की खरीद की जाएगी। ताकि समय पर उसे जिलों को उपलब्ध कराया जा सके। जिला स्तर पर जिला प्रशासन व सिविल सर्जन की देखरेख में कोरोना से बचाव की सामग्रियों का वितरण कराया जाएगा। इसके साथ ही जिलों में मेडिकल टीम का गठन भी किया जाएगा। 

स्वास्थ्य विभाग हुआ अलर्ट 

स्वास्थ्य विभाग पंचायत चुनाव के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर अलर्ट हो गया है। विभाग की ओर से पंचायत चुनाव के दौरान राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार कोरोना नियंत्रण के सभी उपाय किए जाने को लेकर तैयारी शुरू हो गयी है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि पंचायत चुनाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अपने पूर्व के अनुभवों के आधार पर तत्परतापूर्वक कार्रवाई करेगा। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना के मामले कम हुए हैं लेकिन अब भी विशेष सतर्कता बरती जा रही है। चुनाव के दौरान भी विभाग विशेष रूप से डेल्टा प्लस वायरस को लेकर हाई अलर्ट पर रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा। इस दिशा में तैयारी शुरू कर दी गयी है।   

कोरोना की पहली लहर के दौरान हुआ था विधानसभा चुनाव 

कोरोना की पहली लहर के दौरान पिछले वर्ष राज्य में चुनाव आयोग के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने बूथ स्तर से लेकर राज्य स्तर तक कोरोना संक्रमण के विस्तार को रोकने व बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न कराने में सहयोग किया था। अक्टूबर-नवंबर के दौरान तब कोरोना संक्रमण के गंभीर मामले कम सामने आ रहे थे। लेकिन इस बार, अगस्त से अक्टूबर के बीच पंचायत चुनाव कराए जाने की तैयारी राज्य निर्वाचन आयोग कर रहा है। 

छह करोड़ ग्रामीण मतदाता चुनाव में होंगे शामिल 

सूत्रों के अनुसार पंचायत चुनाव में करीब छह करोड़ ग्रामीण मतदाता शामिल होंगे। मतदानकर्मियों के साथ मतदाताओं के लिए भी सभी बूथों पर पानी, साबुन, सेनेटाइजर इत्यादि की व्यवस्था किए जाने का निर्देश राज्य निर्वाचन आयोग ने दिया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here