पंचायत चुनाव में इस बार प्रत्येक बूथ पर 850 मतदाता मतदान करेंगे। जिले में बूथों की संख्या बढ़ने के बाद इस बारे में निर्णय लिया गया है। मतदाता सूची का विखंडन होना अभी बाकी है, लेकिन मोटे तौर पर 850 मतदाताओं को एक बूथ पर रखा गया है।

राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिले में पंचायत चुनाव की तैयारी तेज हो गई है। इसके तहत बूथवार मतदाताओं की संख्या निर्धारित कर ली गई है। इसके अलावा आयोग के निर्देश पर इस बार पंचायत चुनाव में चार ईवीएम प्रत्येक बूथ के लिए निर्धारित की गई है। ईवीएम से इस बार जिला परिषद, पंचायत समिति, मुखिया व वार्ड सदस्य का चुनाव होना है, जबकि सरपंच व पंच का चुनाव बैलेट पेपर से होना है। सरपंच व पंच के चुनाव के लिए बैलेट पेपर की छपाई कोलकाता में होगी, जबकि ईवीएम में लगने वाले बैलेट की छपाई स्थानीय स्तर पर जिले से कराई जाएगी। चुनाव आयोग के निर्देश पर जिले में पंचायत चुनाव के लिए सभी कोषांगों का गठन कर लिया गया है। मतदाता सूची के विखंडन का काम बाकी है। सूची का विखंडन पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही शुरू कर दिया जाएगा।

वहीं, कार्मिक कोषांग को निर्देश दिया गया है कि इस बार पोलिंग पार्टी के कर्मियों की संख्या बढ़ाई जाए। पिछले चुनावों में प्रत्येक बूथ पर एक पीठासीन अधिकारी के अलावा तीन कर्मी को तैनात किया जाता था, लेकिन इस बार पंचायत चुनाव में दो पीठासीन पदाधिकारी व चार कर्मियों को तैनात किया जाएगा। जिला पंचायती राज अधिकारी ने बताया कि चुनाव के लिए तैयारी शुरू है। अधिसूचना जारी होने के साथ ही प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here