बिहार में अनलॉक-6 की घोषणा के साथ ही मंदिरों के कपाट भी खोल दिये गए हैं। गुरुवार को अनलॉक शुरू होते ही मंदिरों के दरवाजे भक्तों के लिए खुल तो गए लेकिन भीड़ कम दिखाई दी। पटना में बारिश के बीच महावीर मंदिर में भक्त पहुंचे। पटना स्टेशन के पास स्थित हनुमान मंदिर के गेट खुलते ही भक्त भगवान के दर्शन करने पहुंचे।

लंबे अंतराल के बाद श्रद्धालुओं ने भगवान हनुमान के मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की। फूल-माला और प्रसाद चढ़ाया। इसी तरह अगमकुआं स्थित शीतला मंदिर के गेट भी आज से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। हालांकि, बारिश की वजह से यहां श्रद्धालुओं की संख्या कम दिखी। बांस घाट और दरभंगा हाउस स्थित काली मंदिर, गुलजारबाग में बड़ी पटन देवी और पटना सिटी में छोटी पटन देवी मंदिर भी आम लोगों के लिए खोल दिए गए। सावन जैसे पावन महीने में भी सरकार ने बिहार के सभी मंदिरों को बन्द रखा था। उस दरम्यान मंदिरों को खोलने के लिए भाजपा के नेताओं ने सरकार से गुहार भी लगाई थी। 

गया के गजाधर धाम का विष्णुपद मंदिर का प्रवेश द्वार भी 110 दिनों बाद  विधि-विधान से खोल दिया गया। मंदिर का प्रवेश द्वार शुभ मुहूर्त में करीब साढ़े पांच बजे खोला गया। कोविड-19 महामारी की वजह से मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया था। मंदिर के खुलने के साथ भगवान विष्णु की चरण स्थली का षोषडो उपचार के साथ महापूजा की गई।
मंदिर खुलने पर प्रवेश द्वार पर पूजा अर्चना कराई गई। इस मौके पर नारियल फोड़ा गया व फिर सूक्ष्म आरती की गई। मंदिर का प्रवेश द्वार खुलते ही श्रद्धालुओं और मंदिर से जुड़े पंडा समाज के लोगों में जोश का संचार हो गया। मंदिर के गर्भगृह में विष्णु चरण स्थली पर श्रद्धालुओं व पंडों ने अपना माथा पटका और खुद का व विश्व के कल्याण की मंगल कामना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here