बिहार में एंबुलेंस की खरीद पर सरकार दे रही 2 लाख रुपये (सांकेतिक तस्वीर)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को संवाद से सीएनजी बस और एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाने के बाद पत्रकारों से कहा कि सीएनजी के परिचालन से प्रदूषण को कम करने में सहूलियत होगी, पर्यावरण को सुरक्षित रखने में भी इससे मदद मिलेगी. इसको लेकर 50 सीएनजी बसों को रवाना किया गया है. मुख्यमंत्री ने 350 एंबुलेंस और 50 सीएनजी बसों को रवाना किया. सीएम ने कहा कि इन बसों के परिचालन से लोगों को आवागमन में भी काफी सुविधा होगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बीमारी के समय गांव से शहरों के अस्पताल आने में काफी दिक्कत होती थी. अब वैसे लोगों को आने जाने में सुविधा होगी. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के अंतर्गत सभी ब्लॉक में दो लाभुकों को एंबुलेंस के क्रय पर अधिकतम दो लाख रुपये अनुदान दिया जा रहा है.

इस साल के अंत तक सभी प्रखंडों में दो लाभुकों को एंबुलेंस प्रदान करने का निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जायेगा. एंबुलेंस की सुविधा होने से कोरोना के साथ ही अन्य बीमारियों एवं सड़क दुर्घटना के शिकार होने की स्थिति में लोगों को अस्पताल तक ससमय पहुंचाया जा सकेगा. गंभीर परिस्थिति में कम से कम समय में पीड़ित को अस्पताल पहुंचाने की जरूरत होती है ताकि उनकी जान बचायी जा सके.

वहीं, मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान सांकेतिक रूप से नालंदा के विनोद कुमार पासवान, बक्सर के महबूब अंसारी, भोजपुर के प्रदीप कुमार गुप्ता, कैमूर के प्रभुदयाल तथा पटना के संजीव कुमार ठाकुर को प्रतीक चिह्न प्रदान कर एंबुलेंस सौंपा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here