बिहार/पटना. गंगा नदी में ऊफान और तेज हो गया है. सोमवार को दीघा और गांधी घाट में गंगा का जल स्तर पहले से ज्यादा बढ़ गया. इसके कारण गंगा अब धीरे-धीरे शहर की ओर बढ़ रही है. पटना के लगभग सभी घाटों पर पानी चढ़ गया है.

गुलबी घाट में विद्युत शवदाह गृह के सामने गंगा पहुंच चुकी है. इसके अलावा सीमेंट से बने अंत्येष्टि स्थल भी पानी के बीच आ गया है. हालांकि, अभी वह डूबा नहीं है. गांधी घाट, कृष्णा घाट, अंटा घाट, रानी घाट, कंगन घाट, भद्र घाट सहित कई अन्य घाटों पर पानी चढ़ गया है.

इतना ही नहीं, मैनपुरा में एक कार रिपेयरिंग सेंटर तक गंगा का पानी आ गया है. जानकारी के अनुसार, दीघा घाट में गंगा का जल स्तर रविवार को 50.72 मीटर था. सोमवार को वहां जल स्तर 50.86 मीटर हो गया. इस तरह यहां 24 घंटे में 14 सेंटीमीटर पानी बढ़ गया.

इसी प्रकार गांधी घाट में भी गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. सोमवार को यहां जल स्तर 49.59 मीटर हो गया, जबकि रविवार को जलस्तर 49.45 मीटर था. इसके अलावा कटैया घाट फतुहा व हाथीदह में भी गंगा का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर है.

तीन जगहों पर पुनपुन खतरे के निशान से ऊपर

पुनपुन नदी श्रीपालपुर, गौरीचक सड़क पुल व पुनपुन पुराना पुल फतुहा में खतरे के निशान से ऊपर है. हालांकि, स्थिति नियंत्रण में है. श्रीपालपुर में पुनपुन का जल स्तर 51 मीटर, गौरीचक सड़क पुल के पास 50.46 मीटर और पुनपुन पुराना पुल फतुहा में जल स्तर 47.90 मीटर है.

पटना के डीएम डाॅ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि सभी को अलर्ट कर दिया गया है. दियारे को लेकर विशेष व्यवस्था की जा रही है. पुनपुन व फल्गु से प्रभावित होने वाले दनियावां इलाके में भी विशेष चौकसी बरती जा रही है. इन सभी जगहों पर जरूरत के अनुसार नावें उपलब्ध कराना, प्लास्टिक शीट की व्यवस्था करना व अन्य सामान का इंतजाम करने का निर्देश दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here