बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र का आज दूसरा दिन है। आज भी राजद और माले के कई विधायक हेलमेट लगाकर विधानसभा पहुंचे। उन्‍होंने बजट सत्र के दौरान 23 मार्च को विधायकों के साथ हुई मारपीट के मुद्दे पर सरकार से माफी मांगने की मांग की। इसके साथ ही हेलमेट लगाए कुछ विधायक साइकिल से विधानसभा पहुंचे और सरकार को पेट्रोल-डीजल की महंगाई पर घेरने की कोशिश की। महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेसी विधायकों ने भी विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया। 

विपक्ष के इन हंगामेदार तेवरों के बीच सदन की कार्यवाही शुरू हो गई है। विपक्ष ने बालू के अवैध खनन पर सवाल उठाए हैं। विपक्षी विधायक रामप्रवेश राय ने बालू पर सरकार को घेरने की कोशिश की। मामले पर मंत्री जनक राम ने जवाब दिया। उन्‍होंने कार्रवाई का भी ब्योरा भी दिया। उन्‍होंने बताया कि इस मामले में कार्रवाई के लिए टॉस्‍क फोर्स बनाई जा रही हैै। वहीं नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव आज दो प्रस्ताव पेश करेंगे। कल भी उन्‍होंने अपना प्रस्‍ताव रखने की कोशिश की थी लेकिन विधानसभा अध्‍यक्ष ने उन्‍हें आज का समय दिया था। 

एनडीए विधायकों ने की अवमानना कार्यवाही की मांग 
उधर, 23 मार्च की घटना को लेकर एनडीए विधायकों ने भी विपक्षी सदस्‍यों को घेरने की कोशिश की है। कल मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में हुई बैठक में एनडीए विधायकों ने कहा था कि 23 मार्च को विधानसभा में दुर्भाग्‍यपूर्ण हंगामा करने वाले विपक्षी विधायकों के खिलाफ कार्यवाही की जानी चाहिए। गौरतलब है कि 23 मार्च को हंगामा कर रहे विधायकों को सदन से बाहर निकालने के दौरान कुछ पुलिसकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की थी। इस मामले में पिछले दिनों दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। अब एनडीए विधायक विपक्षी सदस्‍यों के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here