सूबे के मौसम में अगले दो से तीन दिनों में बदलाव दिखेगा। बंगाल की खाड़ी क्षेत्र की ओर कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। साथ ही 25 जुलाई के आसपास मानसून ट्रफ के बिहार की ओर शिफ्ट करने के आसार हैं। इन मौसमी प्रभावों से दो दिन राज्यभर में बारिश और वज्रपात की स्थिति बन रही है। मौसम विज्ञान केंद्र का कहना है कि 26 व 27 जुलाई को सूबे में झमाझम बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने की आशंका है। इन दो दिनों में राज्यभर के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। दो जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। गया और बक्सर में 27 जुलाई को बहुत तेज बारिश के आसार हैं। 

उधर, सूबे में बादलों की बेरुखी पिछले 72 घंटों से जारी है, जिसका असर अधिकतम तापमान पर पड़ा है। बारिश न होने से राज्यभर में पारा तीन से चार डिग्री तक ऊपर चढ़ा है। लोग पसीने वाली गर्मी से परेशान हैं। जेठ में झमाझम बारिश के बाद सावन निकट आने पर बादलों की बेरुखी से स्वास्थ्य पर भी असर पड़ रहा है। बारिश न होने से धान की रोपनी और खेती किसानी भी प्रभावित हो रही है।

शुक्रवार को पटना में भी दिन में कड़ी धूप रही। हालांकि शाम ढलने पर कुछ इलाकों में बूंदाबांदी हुई। बारिश के बीच ठंडी हवाओं से लोगों ने राहत महसूस की। इससे पहले पिछले 24 घंटों में जयनगर में 40 मिमी, जहानाबाद और टिकारी में 20 मिमी बारिश हुई। दिन में तेज धूप की वजह से  पटना का अधिकतम पारा 35.2 डिग्री सेल्सियस , गया में 34.2 , भागलपुर में 35.6 जबकि पूर्णिया में 35 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

11 जिलों में 26 को भारी बारिश के आसार
पटना, वैशाली, बक्सर, गया, गोपालगंज, सीवान, सारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर, खगड़िया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here