समस्तीपुर:- बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में 48 घंटे बाद बढ़ोतरी होने की दर में कमी आई है। वहीं उसकी रफ्तार भी कमी है। बताया जाता है कि बीते दो दिनों से नदी के जलस्तर में प्रतिदिन 20-24 सेंटीमीटर की बढ़ोतरी दर्ज की जा रही थी। जिसके बाद रविवार को बीते 24 घंटे में नदी के जलस्तर में केवल 10 सेंटीमीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बताया जाता है कि शनिवार की सुबह 6 बजे 45.95 सेंटीमीटर से बढ़कर नदी का जलस्तर अब 46.05 मीटर आ गया है। जिससे नदी का जलस्तर खतरे के निशान 45.73 मीटर से 32 सेंटीमीटर उपर बढ़ गया है। बताया जाता है कि नदी के उपरी जलक्षेत्र मुजफ्फरपुर आदि जगहों पर जलस्तर में स्थिरता आई है। जिससे यहां भी जल्द ही नदी की रफ्तार थमने की स्थिति बन सकती है। वहीं बागमती स्थिर हो गई है। जबकि गंगा व बाया नदी के जलस्तर में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।

नदियों का जलस्तर घटने से आएगी कटाव की समस्या

बताया जाता है कि नदियों का जलस्तर घटने से बांध के कटाव की समस्या आएगी। वहीं तेजी से घटने की प्रवृति बनने पर स्थिति और भयावह हो सकती है। बताया जाता है कि इसको लेकर फल्ड विभाग के अधिकारी दिनरात बांधों की निगरानी में जुटे हुए हैं।

ये भी पढ़े:-20 अगस्त को काम करने के दौरान लगा था,दिल्ली से मजदूर का शव आते ही परिजनों में मचा कोहराम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here