बेगूसराय का लाल लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार जम्मू कश्मीर में लैंडमाइन ब्लास्ट में शहीद हो गया है। ऋषि की शहादत को नमन करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बहादुरी को सलाम करते हुए शहीद के परिवार के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

एस कुमार, बेगूसराय
बेगूसराय जिले का ‘लाल’ आर्मी में लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन सिंह जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में लैंडमाइन विस्फोट में शहीद हो गया। बेगूसराय शहर के वार्ड-16 पिपरा के रहने वाले राजीव रंजन सिंह के एकलौते बेटे लेफ्टिनेंट ऋषि कुमार के शहीद होने पर उनके घर में मातम छा गया है। घटना की पुष्टि शनिवार की शाम छह बजे हुई। सेना की ओर से उनके घर पर फोन कर ऋषि के शहीद होने की सूचना दी।

घर का चिराग था ऋषि रंजन, हमारा तो सबकुछ बर्बाद हो गया’, बेटे की शहादत पर आंख में आंसू लिए बोले पिता

घटना की खबर सुनते ही पूरे घर में कोहराम मच गया। लेफ्टिनेंट ऋषि की मां का रो-रो कर बुरा हाल है। घटना की खबर सुनकर आसपास के लोग और उनके जानने वाले उनके घर पहुंचकर मां पिताजी को ढांढस बंधा रहे हैं। वहीं बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी ऋषि की बहादुरी को सलाम करते हुए शहीद के परिवार के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

गिरिराज सिंह ने किया शहादत को सलाम
गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर कहा- “लखीसराय के पिपरिया के मूल निवासी व बेगूसराय में बसे राजीव रंजन जी के लेफ़्टिनेंट पुत्र ऋषि रंजन जम्मू कश्मीर में शहीद हो गए है। यह पूरे परिवार व क्षेत्र के लिए बहुत पीड़ा दायक है, उनकी बहादुरी को सलाम। ईश्वर परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति दे। ॐ शान्ति।”

6 महीने पहले ही सेना में हुआ था भर्ती
6 महीने पहले ही ऋषि की सेना में ज्वाइन किया था। एक महीने पहले ही जम्मू कश्मीर में पोस्टिंग हुई थी। शहीद एक भाई और दो बहनें हैं। शहीद की बड़ी बहन और बहनोई भी सेना में हैं। शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि की छोटी बहन की शादी 29 नवंबर को तय थी और ऋषि 22 नवंबर को छुट्टी में घर आने वाले थे।

इकलौता बेटा था ऋषि
ऋषि के शहीद होने पर उनके मामा सुदर्शन सिंह ने कहा कि सेना मुख्यालय से घर में फोन कर ऋषि के शहीद होने की जानकारी दी गई है। दो बहनों के घर में ऋषि इकलौता था। उसके जाने से घर वाले काफी दुखी हैं लेकिन गर्व भी है कि देश की रक्षा में ऋषि की शहादत हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here