बिहार/ पटना:- गंगा के जल स्तर में बढ़ोतरी जारी है और पटना आसपास के लाखों लोग बाढ़ से भी प्रभावित हो चुके है. ऐसे में जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निरीक्षण के बाद आपदा प्रबंधन विभाग ने एनडीआरएफ की 14 एवं एसडीआरएफ की 14 टीमों की तैनाती कर दी गयी है.

समस्तीपुर में झमाझम बारिश ने ली तीन लोगों की जान, घर में सोई मां-बेटी समेत तीन की मौत

वहीं, भोजपुर, मुंगेर, बख्तियारपुर सहित अन्य इलाकों में तैनात टीमों को 24 घंटे सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है. पटेल भवन में बने कंट्रोल रूम हर पल की जानकारी टीम को मोबाइल के माध्यम से दी जा रही है. वहीं, अन्य जिलों में तैनात टीम को भी पटना बुलाया गया है, ताकि किसी भी आपदा के दौरान लोगों तक तुरंत राहत पहुंचाया जा सकें. आपदा विभाग ने पटना आसपास लगाये गये टीमों को यह निर्देश दिया है कि उनकी तैनाती अब पटना के आसपास के जिलों में उस वक्त तक रहेगी, जबतक बाढ़ से प्रभावित लोग पूरी तरह से रिलैक्स नहीं हो जाये. उसके बाद ही टीम को कहीं और भेजा जायेगा.

मेडिकल टीम के साथ रहेंगे अधिकारी- बाढ़ प्रभावित इलाकों में नाव के माध्यम से मेडिकल टीम को गश्त करने का निर्देश दिया गया है. मेडिकल टीम में एनडीआरएफ और स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य कर्मी रहेंगे. जो किट बनाकर लोगों तक दवा पहुंचायेंगे और अगर कोई व्यक्ति बीमार रहे, तो उसे तुरंत रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी भी दी गयी है. साथ ही, अधिकारियों को बाढ़ प्रभावित इलाकों में बाढ़ से हुई क्षति और अगर पशुओं के लिए खाने की व्यवस्था भी करेंगे.

जिलाधिकारी करेंगे टीमों की तैनाती- आपदा प्रबंधन विभाग ने संबंधन जिला के डीएम को दिशा-निर्देश भेजा है कि बाढ़ के दौरान जहां भी पानी का स्तर कम होता है या कहीं बढ़ता है, तो सुरक्षा में लगे टीमों को अपने मुताबिक उनका अलग जगहों पर तैनाती कर सकते है. ताकि लोग सुरक्षित रहें और राहत-बचाव कार्य में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो

इन जगहों पर तैनात हुई टीमें- एनडीआरएफ की टीमें वैशाली में दो, सारण दो, बक्सर दो, बख्तियारपुर दो, मुंगेर दो, दीदारगंज दो, दीघा दो टीमों की तैनाती की गयी है. दूसरी ओर एसडीआरएफ की भी टीमें तैनात की गयी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here