पटना. अग्निपथ योजना के विरोध में हुए उपद्रव के बाद पटना पुलिस और रेलवे पुलिस के अलावा कई एजेंसियां जांच में जुटी हैं. इस मामले में पुलिस को नयी जानकारी हाथ लगी है, जिसमें दानापुर स्टेशन पर आगजनी से पहले कब और कैसे साजिश की गयी थी, इस बारे में पता चला है. सबूत के तौर पर वायरल किया गया पोस्ट और फ्लोट किया गया वॉयस मैसेज भी पुलिस टीम के हाथ लग गया है. यही नहीं, एक वाट्सएप ग्रुप का डिटेल भी मिला है, जिसमें 100 से अधिक मेंबर हैं. सूत्रों के अनुसार 16 जून की शाम को ही दानापुर स्टेशन को जलाने की साजिश रची गयी थी. इसके लिए एक पोस्ट लिखा गया था. साथ में एक वॉयस मैसेज भी वाट्सएप ग्रुप में डाला गया था.

एक दिन पहले की गयी थी पूरी प्लानिगं

उपद्रवियों ने एक दिन पहले पूरी प्लानिंग कर ली थी. सूत्रों ने बताया कि 17 जून को हिंसक प्रदर्शन करना था, जिसकी तैयारी 16 जून को ही कर ली गयी थी. कौन कहां क्या करेगा, सारी जानकारी वाट्सएप पर दिया गया था. यह भी पता चला है कि पुलिस ने ग्रुप के 60 मेंबर की पहचान कर ली है, जिनके खिलाफ जल्द ही छापेमारी की जायेगी.

उपद्रवियों में ज्यादातर असामाजिक तत्व

सूत्रों के अनुसार अग्निपथ योजना के विरोध में छात्र से ज्यादा असामाजिक तत्व थे. जांच पाया गया है कि गिरफ्तार आरोपितों में कई ने अब तक आर्मी का न तो फॉर्म भरा है और न ही उन्हें अग्निपथ के बारे में जानकारी है. यह प्रदर्शन क्यों किया जा रहा है, यह भी उन्हें पता नहीं है. बहरहाल, इस मामले में पुलिस कोचिंग संचालकों पर भी कार्रवाई कर रही है. बताया जा रहा है कि बिहार के अलावा दिल्ली, यूपी और बंगाल के कई कोचिंग संचालकों के नाम सामने आये हैं. पुलिस जांच में वाट्सएप पर ‘मिशन इंडिया आर्मी ग्रुप’ का पता चला है.

उपद्रवियों की तलाश में छापेमारी जारी

सूत्रों ने बताया कि ग्रुप में उपद्रवियों के सैनिक चौक पर जमा होने से लेकर सगुना मोड़ तक बढ़ने, फिर पूरे रास्ते तोड़फोड़ करते हुए दानापुर स्टेशन पहुंचने और वहां का पूरा घटनाक्रम सिलसिलेवार तरीके से लिखा गया है. उपद्रव के दौरान पुलिस ने इस केस की शुरुआत में कुल 14 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया था. अन्य उपद्रवियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है. सभी के मोबाइल जब्त कर खंगाले गये. इसी क्रम में 20 साल के पंकज कुमार के मोबाइल को जब खंगाला जा रहा था, तभी उसके वाट्सएप पर ‘मिशन इंडिया आर्मी ग्रुप’ का पता चला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here