मुंबई में कुर्ला स्थित एक चार मंजिला बिल्डिंग अचानक सोमवार रात भरभरा कर गिर गई। मलबे में कई लोगों के दबे होने की सूचना है। घटना के दौरान बिल्डिंग में 20 से 25 लोग दबे थे। इसमें से अधिकांश लोगों को निकल लिया गया है जबकि अभी भी कुछ लोग वहां फंसे हुए हैं। मौके पर पहुंचे महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि यह काफी जर्जर हो चुकी थी और लोगों को खाली करने के लिए नोटिस जारी किए जा चुके थे।

दरअसल, यह घटना मुंबई के कुर्ला के नाइक नगर की है। सूचना मिलते ही पुलिस और दमकल की टीम मौके पर पहुंच गई और अभी भी राहत और बचाव अभियान जारी है। एएनआई ने घटना की तस्वीरें जारी करते हुए बताया कि घटना के दौरान मलबे में 20 से 25 लोगों के दबे होने की सूचना मिली। मौके पर पहुंची दमकल की टीम और पुलिस ने तत्काल लोगों को मलबे से बाहर निकालना शुरू किया।

फिलहाल अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और अब तक अधिकांश लोगों को निकाल लिया गया है। राहत कार्यों में मदद के लिए NDRF को भी मौके पर बुलाया गया है। NDRF के जवान उपकरणों के साथ मलबे को हटाने और इमारत को काटने में जुटे हैं। पुलिस-प्रशासन के अधिकारी बचाव कार्य पर नजर रखे हुए हैं।

उधर घटना के बाद मौके पर पहुंचे महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे ने बताया कि यह चार मंजिला बिल्डिंग काफी जर्जर हो चुकी थी। इनमें रहने वाले लोगों को इमारत खाली करने के लिए नोटिस जारी किए गए थे। इसके बावजूद वे उसमें जबरदस्ती रह रहे थे। यही वजह रही कि बिल्डिंग ढहने से उसके नीचे लोग दब गए।

उन्होंने यह भी कहा कि जब BMC ने इस बिल्डिंग को नोटिस जारी किया था, तभी इसे स्वेच्छा से खाली कर देना चाहिए था। अगर ऐसा कर दिया जाता तो हादसा होने पर लोगों को कोई नुकसान नहीं होता। हम ऐसी जर्जर बिल्डिंगों का पता लगाकर उन पर कार्रवाई शुरू करवाएंगे, जिससे भविष्य में किसी को हानि न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here