समस्तीपुर। शहर के कई मोहल्ले में पिछले ढ़ाई माह से जलभराव की स्थिति है। जलमाव व कीचड़ के कारण स्थिति नारकीय है। सड़कों पर अभी भी घुटने भर पानी जमा है। दर्जनों घरों में बारिश का पानी प्रवेश कर गया। बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। लोगों का घरों से निकलना मुश्किल है। नगर प्रशासन द्वारा विभिन्न वार्डों में लगातार मोटर पंप चलाकर जलभराव से निजात दिलाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन यह नाकाफी दिख रही है। मंगलवार को हुई मूसलाधार बारिश ने पिछले कई दिनों से जारी मशक्कत पर पानी फेर दिया । जलभराव फिर पहले वाली स्थिति में पहुंच गई। शहर में जल निकासी की सु²ढ व्यवस्था नहीं रहने से बीते कई वर्षों से बरसात के बाद जलभराव की स्थिति बन जाती है। इसके बावजूद नगर प्रशासन द्वारा कोई ठोस पहल नहीं की जा रही। एक दर्जन वार्डों में है जलभराव की समस्या

जलभराव के कारण लोगों को घर से निकलने भी कष्टकर बना हुआ है। नगर निगम क्षेत्र के बीएड कालेज मुहल्ला, कृष्णापुरी, काशीपुर, सोनवर्षा, बारहपत्थर, घर्मपुर, चीनी मिल, गुदरी बाजार समेत एक दर्जन वार्डों में जलभराव की स्थित है। जलभराव की समस्या झेल रहे लोगों का कहना है जल निकासी की व्यवस्था नहीं रहने के कारण एक बार जोरदार बारिश के बाद हम लोगों के लिए नारकीय स्थिति बन जाती है। घर से निकलते ही घुटने भर पानी हेलकर आना-जाना पड़ता है। काफी समय से पानी जमा रहने के कारण इससे निकल रही सड़ांध से जीना मुश्किल हो रहा है। इससे एक ओर बीमारियों के फैलने का भय सता रहा है वहीं, सांप और कीड़े-मकोड़े का डर बना रहता है जलभराव वाले इलाके में लगाए गए मोटर पंप हालात से निपटने के लिए नगर निगम को कड़ी चुनौती मिल रही है। हलांकि, नगर निगम द्वारा अभियान चलाकर लगातार मुहल्लों से जलजमाव को हटाया जा रहा है। पिछले पंद्रह दिनों से जलभराव वाले इलाके में 27 मोटर पंप लगाए गए हैं। इसमें पांच अस्सी एचपी, दो साठ एचपी एवं बांकी उससे छोटे पंप लगे हैं। इनपर करीब बीस से पच्चीस हजार रुपया प्रतिदिन खर्च आ रहा है। मगरदही और घर्मपुर बांध किनारे 100 एचपी के दो स्थाई मोटर पंप लगाए गए हैं।लेकिन, कई मुहल्लों में अभी भी समस्या दूर नहीं हो पाई है। शहर के काशीपुर से सोनवर्षा चौक जाने वाले मार्ग में घुटने भर से अधिक बरसात का पानी जमा है। वीर कुंवर सिंह कालोनी, आरएनएआर कॉलेज व बीएड कालेज जाने वाले मार्ग जलजमाव की गिरफ्त में है। लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है। नगर प्रबंधक ने बताया कि जलभराव वाले इलाके में लगातार कार्य किए जा रहे हैं।

खानपुर, संस : प्रखंड के नत्थूद्वार पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या 9 महादलित बस्ती बरसाती पानी से पूरी तरह जलमग्न हो गया है। इस मोहल्ले के करीब दो सौ परिवार करीब एक माह से पानी से घिरे हैं। वर्षा के पानी के कारण लोगों का घर से निकलना कठिन हो गया है। महामारी फैलने की संभावना दिखाई दे रही है। दिलीप सदा ने बताया कि घुटने भर पानी मे होकर घर जाना पड़ रहा है। खाने-पीने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। घर द्वार छोड़कर लोग बांध पर हैं। अभी तक न तो भोजन की व्यवस्था हुई और न हीं पन्नी की व्यवस्था की गई है। प्रशासन ने जलभराव वाले क्षेत्र में छिड़काव नहीं कराया तो महामारी की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। लक्ष्मी सदा ,भोला सदा, कृपाल सदा ,गणेश सदा, लखन सदा ,संजय सदा, फूलों देवी ,गुलबीया देवी का घर पूरी तरह पानी में ही है। बदबूदार पानी से लोगों का जिदगी बेहाल है। समाजसेवी सुरेश महतो के द्वारा कुछ लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here