सदर अस्पताल में अल्ट्रासाउंड जांच केंद्र तो पिछले छह महीने से बंद है ही अब ईसीजी जांच भी बंद हो गया है। ईसीजी जांच केंद्र बंद होने के कारण अस्पताल में मरीज इसकी सुविधा से वंचित हैं। फिलहाल उन्हें ईसीजी जांच के लिए निजी जांच केंद्र में जाना होता है। मिली जानकारी के अनुसार जिले में एकमात्र सदर अस्पताल में ही ईसीजी जांच केंद्र की सुविधा उपलब्ध है। पिछले एक सप्ताह पूर्व ओपीडी भवन में बिजली आपूर्ति के क्रम में शार्ट सर्किट की शिकायत हुई थी। उसी दौरान ईसीजी मशीन भी खराब हो गयी। जिसके कारण पिछले एक सप्ताह से ईसीजी मशीन खराब है और जांच केंद्र बाधित है। ईसीजी में कार्यरत कर्मी देवेंद्र कुमार यादव ने बताया कि इसकी सूचना स्वास्थ्य प्रशासन को दी गयी है। मशीन को पटना भेजा गया है। सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. गिरिश कुमार ने बताया कि ईसीजी जांच मशीन खराब है। जिसे ठीक होने के लिए पटना भेजा गया है। मशीन आने के बाद जांच की सुविधा दी जाएगी। फिलहाल ईसीजी जांच बंद है।

औसतन पांच मरीजों की होती थी ईसीजी जांच:

सदर अस्पताल में औसतन पांच मरीजों की ईसीजी जांच होती थी। लेकिन फिलहाल बंद होने के कारण मरीजों को बाहर जाना पड़ता है। सदर अस्पताल में ओपीडी एवं यक्ष्मा (टीबी) मरीजों को इसीजी की सुविधा नि:शुल्क मिलती है। हर्ट से संबंधित परेशानी होने पर मरीजों को इसीजी जांच का परामर्श दिया जाता है। निजी जांच केंद्रों में इसीजी जांच के लिए ढाई सौ से तीन सौ रुपए प्रति मरीज लिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here