समस्तीपुर जिले में स्वास्थ्य विभाग की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। खानपुर थाना क्षेत्र के सिरोपट्टी गांव के एक आंगनबाड़ी केंद्र पर फोलिक एसिड नामक एक्सपायर दवा पीने के बाद आठ बच्चे गंभीर रूप से बीमार पड़ गए। किसी को उल्टी, किसी को दस्त तो कोई बेहोश होने लगा। बच्चों की तबीयत बिगड़ने के बाद परिजनों ने सभी को इलाज के लिए सदर अस्पताल समस्तीपुर में भर्ती कराया।

अस्पताल में मौजूद ग्रामीण मिथिलेश राम ने बताया कि मामला सुरोपट्टी वार्ड संख्या 12 महादलित टोला स्थित आंगनबाड़ी केंद्र का है। आंगनबाड़ी के द्वारा बच्चों को जो दवा पिलाई गई, वह एक्सपायरी थी। दवा पीने से बच्चों की तबीयत बिगड़ने के बाद हमने स्थानीय BDO व SHO को फोन किया तो उधर से कोई रिस्पांस नहीं मिला। इसके बाद सदर SDO को फोन करने पर उन्होंने सभी को इलाज के लिए अस्पताल लाने की बात कही। जब हम सभी को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे तो घंटों कोई देखने तक नहीं पहुंचा।

इस मामले पर सिविल सर्जन डॉ. सत्येंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी व जिला मलेरिया पदाधिकारी को जांच के लिए भेजा गया है। प्रतिवेदन आने के बाद इस पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने दवा की प्रक्रिया के बारे में कहा कि जो दवा भंडार में आती है, वह आंगनबाड़ी व आशा को भी वितरित की जाती है। हो सकता है कि किसी स्तर पर गलती हुई हो या तो परिजनों से गलती हुई हो कि वह दवा रख लिए हों और बाद में पिलाया हो या हमारी तरफ से गलती से एक्सपायरी दवा की आपूर्ति की गई हो। अभी यह जांच का विषय है। दूसरी बात है कि जो बच्चे अस्पताल में आए थे, सभी अब स्वस्थ हैं। आधे घंटे ऑब्जर्वेशन में रखने के बाद सभी को घर भेज दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here