Samastipur:- समस्तीपुर कॉलेज समस्तीपुर में कॉलेज के प्रिंसिपल की उदासीनता के कारण कॉलेज परिसर में असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है। किस कारण कॉलेज आने वाली छात्राएं बदसलूकी का शिकार होती रहती हैं। मामला संज्ञान में आने के बावजूद भी कॉलेज एडमिनिस्ट्रेशन के द्वारा असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की जाती है।

जिससे असामाजिक तत्वों का मनोबल दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है और पूरा महाविद्यालय इससे दूषित हो रहा है। मिली जानकारी के अनुसार बीते शनिवार को छात्र संगठन एनएसयूआई के बैनर के नीचे हेल्प डेस्क लगाया गया था। जहां हेल्प डेस्क पर बैठे छात्राओं के साथ असामाजिक तत्वों के द्वारा बेवजह गाली-गलौज की घटना को अंजाम दिया गया तथा असामाजिक तत्वों के द्वारा लगाए गए बैनर को फाड़ दिया गया। जिसकी सूचना तत्क्षण छात्र व छात्राओं के द्वारा कॉलेज के प्रिंसिपल को दी गई।

बावजूद इसके कॉलेज के प्रिंसिपल के द्वारा इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया। जिसके विरोध में एनएसयूआई कॉलेज कैंपस में ही अनिश्चितकालीन धरना पर बैठ गई। असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शुरू हुए धरना के दूसरे दिन भी कॉलेज प्रशासन के द्वारा कोई संज्ञान नहीं लिया गया।

धरना पर बैठे छात्रों ने कहा कि असामाजिक तत्वों की गुंडागर्दी और कॉलेज प्रशासन की उदासीनता के विरोध में एनएसयूआई सोमवार को कॉलेज के पूर्ण बंदी कार्यक्रम आयोजित करेगी। धरनास्थल पर राजन कुमार वर्मा, मो० फारूक, प्रशांत पाठक, रघुबीर यादव, पीयूष कुमार, अमित कुमार, प्रिंस कुमार, अफजल एवं निशांत कुमार सहित दर्जनों छात्र मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here