समस्तीपुर जिले में संभावित बाढ़ को देखते हुए प्रभावित प्रखंडों में गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों की सूची तैयार की जा रही है। ताकि बाढ़ के समय प्रसूताओं को सुरक्षित संस्थागत प्रसव की सुविधा उपलब्ध करायी जा सके। इसके तहत बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आशा, आंगनबाड़ी सेविका व एएनएम कार्यकर्ताओं द्वारा सभी वार्डों में भ्रमण के दौरान गर्भवती महिलाओं की सूची तैयार की जा रही है। सूची में वैसी गर्भवती महिलाओं का नाम शामिल किया जा रहा है, जिनके प्रसव की तिथि जुलाई, अगस्त व सिंतबर महीने की है। ताकि बाढ़ के समय में उन्हें प्रसव के लिए समय से पूर्व ही नाव संबंधित अस्पताल तक पहुंचाया जा सके। सूची में प्रसूता का नाम, पता व मोबाइल नंबर भी लिया जा रहा है। ताकि मेडिकल टीम के द्वारा समय-समय पर गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य संबंधित जानकारी भी ली जा सके। बता दें कि जिले के कल्याणपुर, सिंघिया, बिथान, हसनपुर, वारिसनगर, खानपुर, रोसड़ा, शिवाजीनगर, मोहीउद्दीननगर, मोहनपुर, पटोरी, विभूतिपुर प्रखंडों में सर्वे किया जा रहा है।

बच्चों की भी बन रही सूची

जिले के संभावित बाढ़ प्रभावित इन क्षेत्रों में पांच वर्ष तक के बच्चों की भी सूची बनायी जा रही है। इन बच्चों को नियमित टीकाकरण सहित अन्य कार्यों के लिए सूची तैयार करायी जा रही है। साथ ही सूची में बच्चों के नाम, पता के साथ-साथ मोबाइल नंबर भी लिया जा रहा है। यह सूची संबंधित क्षेत्र के एएनएम, स्वास्थ्य केंद्र, पीएचसी में भी उपलब्ध होगा। ताकि समय-समय पर इन मोबाइल नंबरों से बच्चों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जा सकेगी।

‘संभावित बाढ़ को देखते हुए प्रभावित क्षेत्रों में गर्भवती महिला व पांच वर्ष तक के बच्चों की सूची बनायी जा रही है। वैसे गर्भवति महिलाओं की सूची बनायी जा रही है, जिसका जुलाई, अगस्त व सितंबर में प्रसव की तिथि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here