Jamui News: बकरीद की नमाज अदा कर घर लौट रहे युवक की प्राइवेट पार्ट काटकर झाड़ी में फेंका, साथ ही मौके से चार लाठी भी बरामद की गई.
DEMO PIC

समस्तीपुर. बिहार के समस्तीपुर के उजियारपुर के एक गांव में ईंट बनाने के लिए खोदे गए गड्ढे के पानी में कपड़े धोने गई और उसी दौरान 13 साल की बच्ची का पांव फिसल गया और वह उसमें गिर गई। वहां मौजूद उसकी नानी भी उसे बचाने के लिए गड्ढे में उतर गई, जिसके बाद दोनों की ही डूबकर मौत हो गई। आवाज सुनकर पहुंचे आसपास के लोग जब तक पहुंचे, दोनों की जान जा चुकी थी। जिसके बाद लोगों ने शवों को बाहर निकाला। जिसके बाद पुलिस को इस मामले की सूचना दी गई। पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और मामले की जांच-पड़ताल की।

मिली जानकारी के अनुसार, यह मामला अंगरघाट थाना के डढ़िया गांव का है, जहां मंगलवार सुबह चिमनी के पानी भरे गड्ढे में डूबने से नानी और उनकी नातिन की मौत हो गई। यह हादसा मंगलवार सुबह करीब 8 बजे हुआ। मृतका की पहचान गांव की निवासी 55 वर्षीय इमामन खातून व समस्तीपुर के बासुदेवपुर निवासी उनकी नातिन 13 वर्षीय नसीमा खातून के रूप में की गई है। इस हादसा से मृतकों के परिजनो में कोहराम मच गया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि हादसे के समय नानी व नातिन घर से कुछ ही दूरी पर स्थित खेत में चिमनी में ईट बनाने के लिए खोदे गए पानी भरे गड्ढे में कपड़े धोने गई थी। उसी दौरान गलती से नसीमा का पांव फिसल गया। इससे वह गहरा पानी में चली गई। नातिन को पानी में डूबते देख नानी इमामन खातून ने शोर मचाने के साथ बचाने के लिए पानी में भी उतर गई। जिसके बाद दोनों डूब गईं। पुलिस ने मौके पर दोनों शवों को पोस्टमार्टम कराने के लिए कहा तो परिवार ने इनकार कर दिया। कई बार कहने के बाद भी परिवार पोस्टमार्टम के लिए राजी नहीं हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here