Migrant labourer labourer killed in terror attack: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को को आतंकियों के ग्रेनेड हमले (Terror attack) में एक प्रवासी मजदूर की मौत हो गई, जबकि दो अन्य लोग घायल हुए हैं.

कश्मीर जोन की पुलिस के मुताबिक आतंकवादियों ने पुलवामा के गदूरा इलाके में बाहर से आये श्रमिकों पर ग्रेनेड फेंके और इस आतंकी घटना में एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए हैं. सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर कर सर्च ऑपरेशन चलाया है. इस साल की शुरुआत में आतंकियों ने गैर स्थानीय मजदूरों (Migrant labourer) पर हमले बढ़ा दिया थे, लेकिन इस तरह के टारगेट हमलों में पिछले करीब दो महीने से कमी आई थी.

हमले में बिहार के मजदूर की मौत

मृतक मजदूर की पहचान बिहार के सकवा परसा निवासी मोहम्मद मुमताज के रूप में हुई है. घायलों की पहचान बिहार के रामपुर निवासी मोहम्मद आरिफ और मोहम्मद मजबूल के तौर पर हुई है. फिलहाल दोनों की हालत स्थिर बताई जा रही है. यह आतंकी हमला जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की वर्षगांठ यानी 5 अगस्त से ठीक एक दिन पहले हुआ है. केंद्र सरकार ने 2019 में राज्य का विशेष दर्जा खत्म करते हुए अनुच्छेद 370 को हटा लिया था जिसे लेकर काफी दिनों तक घाटी में तनाव रहा था.

कुपवाड़ा में 3 आतंकी गिरफ्तार

सुरक्षा बलों ने गुरुवार को ही कश्मीर के कुपवाड़ा से तीन आंतकियों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आतंकियों के कब्जे से आपत्तिजनक दस्तावेज और गोला-बारूद बरामद किया गया है. पुलिस ने कहा कि शुरुआती जांच में खुलासा हुआ है कि तीनों को जिले के हंदवाड़ा इलाके में हमला करने का काम सौंपा गया था ताकि आम लोगों के जान-माल के नुकसान के साथ ही शांति भंग की जा सके.

हंदवाड़ा में फल मंडी के पास जांच चौकी पर तैनात पुलिस, सेना और सीआरपीएफ कर्मियों ने तीन लोगों को रोका तो वह पुलिस टीम को देखकर भागने की कोशिश करने लगे लेकिन उन्हें पकड़ लिया गया. गिरफ्तार किए गए दो आरोपियों की पहचान मंजूर अहमद और शौकत अहमद भट के रूप में हुई. पकड़े गए तीसरे आरोपी की उम्र का पता लगाया जा रहा है इसलएि उसकी पहचान जाहिर नहीं की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here