बिहार में माध्यमिक/उच्च माध्यमिक स्कूलों के लिए चयनित शिक्षकों को 30 जुलाई को नियुक्ति पत्र प्रदान किये जायेंगे। इस विषय में अधिकांश नियोजन इकाइयों ने शुक्रवार को अंतिम मेधा सूची जारी कर दी है। छठे चरण का नियोजन 32 हजार से भी ज्यादा खाली पदों के लिए किया गया है। यह अधिसूचना माध्यमिक शिक्षा निदेशक द्वारा जारी किया गया है। वहीं 25 जुलाई को नगर निगम नियोजन इकाइयों में काउंसेलिंग की प्रक्रिया होगी। जबकि नगर पर्षद और नगर पंचायत नियोजन इकाइयों के लिए जिला मुख्यालय पर 26 जुलाई को और 27 जुलाई को पर्षद नियोजन इकाई द्वारा काउंसेलिंगकी कार्यवाही पूरी होगी।

यह काउंसेलिंग सुबह 10 बजे से अपराह्न 3 बजे तक होगी। उपस्थित अभ्यर्थियों की विषयवार मेधा सूची के क्रमवार अनुमोदित आरक्षण रोस्टर बिंदु के परिप्रेक्ष्य में अंतिम रूप से चयन सूची बनेगा। और चयनित अभ्यर्थियों की सहमति पाकर उनका एसटीइटी प्रमाणपत्र नियोजन इकाई अपने पास रख लेगी। वहीं काउंसेलिंग के दौरान अनुपस्थित अभ्यर्थियों का दावा समाप्त माना जायेगा। काउंसेलिंग से नियुक्ति पत्र बांटने तक की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी होगी। काउंसेलिंग स्थल पर अभ्यर्थियों की उपस्थिति पंजी भी बनेगा।

मधुबनी, गया , मुजफ्फरपुर ,दरभंगा, समस्तीपुर, गया व भागलपुर नगर निगम सहित दर्जनों नगरीय निकायों में माध्यमिक और उच्च माध्यमिक नियोजन के लिए औपबंधिक मेधा सूची जारी नहीं हो पाया है। यहां नियोजन प्रक्रिया रुकी है। दरअसल इन नगरीय निकाय भंग होने के कारण यहां नियोजन हेतु आवश्यक प्रशासक नियुक्त नहीं हो सके है। विभाग इन स्थानों पर काउंसेलिंग के लिए अलग से शेड्यूल जारी करेगा। आपको बता दूं कि अब ग्राम पंचायतों में पंचायत सचिव की कमी दूर हो जायेगी।

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा अनुशंसित 3161 पंचायत सचिवों में 3127 सचिवों को राज्य के अलग-अलग पंचायतों में भर्ती करने का आदेश पंचायती राज विभाग द्वारा जारी कर दिया गया है। विभाग के प्रधान सचिव मिहिर कुमार सिंह का सभी डीएम को आदेश है कि वे पंचायत सचिवों मूल प्रमाणपत्रों की जांच कर उनका पदस्थापन करें। साथ ही डीएम को यह भी आदेश दिया गया है कि वे पंचायत सचिव पद पर नियुक्त होने वाले अभ्यर्थियों से शपथपत्र ले लें, ताकि बाद में यह प्रमाणपत्र गलत पाये जाते है तो उनकी नियुक्ति रद्द कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here