वैशाली जिले के महुआ में ऑपरेशन के कुछ घंटे बाद ही एक महिला ने बेड पर दम तोड़ दिया। इससे गुस्साए लोगों ने ना सिर्फ नर्सिंग होम पर बवाल मचाया बल्कि डॉक्टर और कर्मियों को घंटों बंधक बनाए रखा। घटना बीते शुक्रवार की रात महुआ देसरी रोड के पेट्रोल पंप के पास की है। हालांकि शनिवार को दोनों पक्ष के लोगों द्वारा आपसी मेल -मिलाप के बाद मामले को शांत कर दिया गया।

बताया गया कि महुआ अनुमंडल के पातेपुर थाना अंतर्गत राघोपुर नरसंडा निवासी जितेंद्र राय अपनी पत्नी 30 वर्षीया सुशीला देवी को महुआ -देसरी रोड स्थित एक निजी नर्सिंग होम में बच्चेदानी का ऑपरेशन कराया था। ऑपरेशन के बाद महिला कुछ देर तक ठीक- ठाक रही पर देर रात स्थिति बिगड़ गई और उसने बेड पर ही दम तोड़ दिया। यह  खबर मृतक के परिजन के अलावा सगे संबंधी और गांव वालों के मिली। 

देखते ही देखते शनिवार की सुबह नर्सिंग होम पर लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई। लोग नर्सिंग होम पर ऑपरेशन करने में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए बवाल मचाने लगे तथा डॉक्टर और कर्मियों को बंधक बनाए रखा। बाद में दोनों पक्ष के लोगों के बीच आपसी सहमति बनी और उसके बाद परिजन मृतक सुशीला देवी के शव को पिकअप वैन पर लादकर घर ले गए। 

मृतका के पति जितेंद्र राय ने बताया कि बीते शुक्रवार की शाम 4 बजे उनकी पत्नी को ऑपरेशन थिएटर में ले जाया गया और 5:13 बजे निकाला गया। उन्होंने बताया कि 2 बजे रात में स्थिति बिगड़ी और महिला ने दम तोड़ दिया। उन्होंने बताया कि उन्हें चार छोटे-छोटे बच्चे हैं। पत्नी को बच्चेदानी में गड़बड़ी के कारण ऑपरेशन कराने आए थे। हालांकि यह मामला बवाल के बावजूद आपसी सहमति से सलट लिया गया। पुलिस को सूचना नहीं दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here