हाजीपुर: बिहार के वैशाली जिले के जंदाहा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में हत्या के बाद शनिवार को पीड़ित परिवार से मिलने पूर्व सांसद व जाप सुप्रीमो पप्पू यादव पहुंचे. उन्होंने पीड़ित परिवार से मिलकर 20 हजार रुपये की आर्थिक मदद की. साथ ही परिवार को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया. इस दौरान पूर्व सांसद ने एसपी को फोन कर इस घटना के बारे में अवगत कराया और उचित कार्रवाई करने की मांग की. पप्पू यादव यहीं नहीं रुके. पीड़ित परिवार से मिलने के बाद यादव ने जेडीयू के दो बड़े नेता पर जमकर हमला बोला.

पप्पू यादव ने कहा कि यह घटना जंदाहा में हुई है और जेडीयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा भी यहीं से हैं. वह फिलहाल सुशासन की सरकार में काफी एक्टिव हैं, लेकिन अपने क्षेत्र में ही अपराध को नहीं रोक पा रहे हैं. उनके गृह क्षेत्र में ऐसी घटना हुई है, लेकिन पीड़ित परिवार से मिलना भी उचित नहीं समझा. उन्होंने उपेंद्र कुशवाहा पर जातिवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि मरने वाला यादव परिवार से है, अगर कुशवाहा समाज से होता तो उपेंद्र कुशवाहा तुरंत पहुंच जाते और अपना जातीय समीकरण फीट कर भूमिका टाइट करते.

पंचायत भवन के छत पर जली हुई मिली थी लाश

जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा पर निशाना साधते हुए पप्पू यादव ने कहा कि वो यहां के पूर्व विधायक रह चुके हैं, पर प्रदेश अध्यक्ष इस घटना के बाद पीड़ित परिवार को शुद्ध लेना सही नहीं समझते. बता दें कि बीते 27 जून को जंदाहा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में एक युवक को शादी का पार्टी देने के बहाने बुलाया. फिर प्रेमिका ने अपने पति और भाई के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी थी. इसके बाद मृतक का शव गांव के सुनसान इलाके में बने पंचायत भवन के छत पर फेंक कर मिट्टी तेल छिड़ककर जला दिया था. इस घटना के बाद शनिवार को पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here