बिहार /पटना:- स्पाइनल मस्कुलर अट्रॉफी नाम की दुलर्भ बीमारी से जूझ रहे 11 महीने के अयांश को जान बचाने के लिए 16 करोड़ रुपए के इंजेक्शन की दरकार है। सोमवार को अयांश के माता-पिता सीएम नीतीश से मिलने जनता दरबार में पहुंचे थे लेकिन रजिस्‍ट्रेशन न होने के चलते उन्‍हें बाहर ही रोक लिया गया। इस बीच अयांश के पिता आलोक सिंह ने भावुक अपील की कि सरकार उनकी जमीन ले ले और बदले में इंजेक्‍शन की व्‍यवस्‍था कर दे ताकि उनके बेटे की जान बचाई जा सके।

अयांश की मां नेहा ने बताया कि लोगों की मदद से अब तक 6.25 करोड़ रुपए ही जुट पाए हैं। इधर, क्राउड फंडिंग की रफ्तार धीमी हो गई है। पिता ने कहा कि जिस गति से पैसे जुट रहे हैं, उससे बहुत दिन लग जाएंगे। जबकि डॉक्टर का कहना है कि यदि अयांश को अगले डेढ़ महीने तक इंजेक्शन लग जाए तो वो जल्‍दी ही रिकवर कर जाएगा। 

आलोक सिंह कहा कि वे चाहते हैं कि सरकार उनकी जमीन ले ले। कुछ अपनी ओर से मिलाकर इंजेक्‍शन की व्‍यवस्‍था कर दे ताकि अयांश की जान बचाई जा सके। अयांश की जान बचाने के लिए बिहार में सोशल मीडिया पर कैंपेन भी चल रही है। पिछले दिनों राजद नेता तेजप्रताप यादव ने अयांश के परिवार से मुलाकात की थी। वह अयांश को गोद में लेकर दुलार करते नज़र आए थे। तेजप्रताप ने पीएम मोदी और सीएम नीतीश से अयांश की मदद की अपील की है। पाटलिपुत्र से भाजपा के सांसद रामकृपाल यादव भी अयांश की मदद के लिए गुहार लगा चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here