बिहार: 17 वर्षीय महादलित छात्र प्रेम कुमार अमेरिका में करेगा पढ़ाई, 2.5 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति मिली
बिहार: 17 वर्षीय महादलित छात्र प्रेम कुमार अमेरिका में करेगा पढ़ाई, 2.5 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति मिली

बिहार के फुलवारीशरीफ में गोनपुरा गांव के 17 वर्षीय महादलित छात्र प्रेम कुमार को अमेरिका के प्रतिष्ठित लाफायेट कॉलेज द्वारा स्नातक करने के लिए छात्रवृत्ति मिली है. कॉलेज द्वारा दिए की छात्रवृत्ति की राशि  2.5 करोड़ रुपये है. प्रेम कुमार के पिता पेशे से एक दिहाड़ी मजदूर हैं. एक दिहाड़ी मजदूर के बेटे को 2.5 करोड़ की छात्रवृत्ति मिलने पर हर लोग उसकी तारीफ कर रहे हैं. 

विश्व के 6 छात्रों में शामिल 
बता दें कि वर्ष 1826 में स्थापित लाफायेट कॉलेज अमेरिका के शीर्ष 25 कॉलेजों में शामिल है. इसे अमेरिका के “हिडन आइवी” कॉलेजों की श्रेणी में गिना जाता है. भारत में ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाले प्रेम संभवत: पहले महादलित छात्र होंगे. प्रेम दुनिया भर के 6 छात्रों में शामिल हैं जिन्हें लाफायेट कॉलेज से प्रतिष्ठित “डायर फैलोशिप” मिली है. लाफायेट के अनुसार यह फेलोशिप उन चुनिंदा छात्रों को मिलता है जिनमें दुनिया की कठिन से कठिन समस्याओं का समाधान निकालने के लिए आंतरिक प्रेरणा एवं प्रतिबद्धता हो. 

शिक्षक को दिया श्रेय 
छात्रवृत्ति मिलने पर प्रेम ने कहा, “यह अविश्वसनीय है! मेरे माता-पिता कभी स्कूल नहीं जा सके. मैं भी अपने पिता की तरह खेतों और निर्माण स्थलों पर काम करते रह सकता था. लेकिन डेक्सटेरिटी ग्लोबल और शरद सागर सर की वजह से मेरा जीवन परिवर्तित हो गया. प्रेम कुमार ने अपनी सफलता का श्रेय डेक्सटेरिटी ग्लोब अपने शिक्षक को दिया है.

महादलित परिवार का बेटा
प्रेम बिहार के महादलित मुसहर समुदाय से आते हैं और अपने परिवार से कॉलेज जाने वाले वो पहले सदस्य होंगे. उनका परिवार गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) श्रेणी में आता है और राशन कार्ड धारक है. वर्तमान में प्रेम  शोषित समाधान केंद्र से 12वीं की पढ़ाई कर रहे हैं. लाफायेट कॉलेज में वो मैकेनिकल इंजीनियरिंग और अंतर्राष्ट्रीय संबंध की पढाई करेंगे. प्रेम को मिले 2.5 करोड़ की छात्रवृत्ति में चार वर्षों के लिए  लाफायेट कॉलेज में उनके पढाई एवं रहने के पूरे खर्च को कवर करेगी – जिसमें ट्यूशन, निवास, किताबें और आपूर्ति, स्वास्थ्य बीमा, यात्रा व्यय, इत्यादि शामिल है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here