samastipur- जिला में जैसे-जैसे बूढ़ी गंडक व बागमती नदी का जलस्तर घर रहा है वैसे-वैसे गंगा नदी का जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है। इससे जहां एक ओर कल्याणपुर, समस्तीपुर, रोसड़ा, विभूतिपुर आदि क्षेत्रों में खतरा टल रहा है वहीं मोहनपुर व मोहिउद्दीननगर में बाढ़ का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। बताया जाता है कि जिला में गंगा नदी का जलस्तर लगातार बढ़कर 44.65 मीटर पर आ गया है। जो खतरे के निशान 45.50 मीटर से महज 85 सेंटीमीटर दूर है।

वहीं इसके बढ़ने की प्रवृति भी जारी है। जिसके एक से दो दिन में खतरे का निशान पार करने की संभावना बताई गई है। नदी का जलस्तर 46 मीटर पहुंचने से मोहनपुर के धरनीपट्टी पश्चिमी पंचायत के चार गांवों हरदासपुर, सरसावा, जहैगरा व नवघरिया में पानी आ सकता है। वहीं नदी का जलस्तर 47 मीटर आने की स्थिति में मोहिउद्दीननगर के 9 पंचायत के 32 गांव प्रभावित हो जाएंगे।

मोहिउद्दीननगर में एक लाख लोग होंगे प्रभावित

बताया जाता है कि गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने से मोहिउद्दीननगर के रासपुर पतसिया पूरब, रासपुर पतसिया पश्चिम, बोचहा, दुबहा, हरैल, कुरसाहा, डेरी विशनपुर, महमद्दीपुर व तेतारपुर पंचायत के 32 गांव के 1 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित होंगे। वहीं मोहनपुर के धरनीपट्टी पश्चिमी पंचायत के हरदासपुर, सरसावा, जहैगरा व नवघरिया गांव में 12 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here