प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को लगातार नौवीं बार लालकिले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। इस साल 15 अगस्त को होने वाला समारोह खास है, क्योंकि यह भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर हो रहा है और सरकार इस मौके पर कई कार्यक्रम शुरू कर रही है। प्रधानमंत्री लालकिले की प्राचीर से भी कई अहम घोषणाएं कर सकते हैं। इनमें स्वास्थ्य पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ‘हील इन इंडिया, हील बाय इंडिया’ जैसे कई पहल का ऐलान संभव है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

महत्वपूर्ण घोषणाएं संभव
सरकार ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर ‘हर घर तिरंगा’ समेत कई कार्यक्रम शुरू किए है। देशवासियों को स्वदेशी से जोड़ने, महिलाओं को उनका हक दिलाने और गरीबों-वंचितों के लिए भी कई कार्यक्रमों का ऐलान किया गया है। प्रधानमंत्री अक्सर ऐसे अवसरों पर अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के अहम नतीजों पर बात करते हैं और कई बार महत्वपूर्ण घोषणाएं करते हैं। 

उन्होंने पिछले साल अपने भाषण में राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन, गति शक्ति मास्टर प्लान और 75 सप्ताह में 75 वंदे भारत ट्रेन चलाने की घोषणाएं की थीं। इससे पहले 2020 में प्रधानमंत्री मोदी ने घोषणा की थी कि छह लाख से अधिक गांवों को ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ने का काम 1,000 दिन में पूरा किया जाएगा। 

उन्होंने प्रत्येक नागरिक को डिजिटल स्वास्थ्य पहचान पत्र देने की सरकार की योजना का भी जिक्र किया था। उन्होंने 2019 में स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष का पद बनाने की अहम घोषणा की थी।

मेडिकल पर्यटन पर जोर
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सरकार ने 44 देशों की पहचान की है, जिनमें मुख्य रूप से अफ्रीकी, लातिन अमेरिकी, दक्षेस और खाड़ी देश हैं, जहां से बड़ी संख्या में लोग चिकित्सा उद्देश्यों के लिए भारत आते हैं। इन देशों में इलाज की लागत और गुणवत्ता को भी ध्यान में रखा गया है। हील बाय इंडिया पहल का उद्देश्य देश को स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रशिक्षित और सक्षम श्रमशक्ति के वैश्विक स्रोत के रूप में पेश करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here