पटना: सेना भर्ती के लिए केंद्र सरकार के अग्‍न‍िपथ योजना के विरोध (Protest On Agnipath Scheme in Bihar) में गुरुवार को भी बिहार में छात्रों का विरोध-प्रदर्शन जारी है. बेगूसराय, मुजफ्फरपुर, बक्सर, आरा के बाद अब नवादा और जहानाबाद, सहरसा समेत अन्‍य जिलों में भी छात्र रोड पर उतर आए हैं. गुरुवार को सुबह से ही रोड और रेलवे ट्रैक को जाम कर जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर इन छात्रों को अब राजनीतिक दलों (Political Parties) का भी समर्थन मिलने लगा है. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अग्‍न‍िपथ योजना को ठेका प्रथा बताया है.

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ट्वीट करते हुए कहा है – “अगर देश के सबसे बड़े न्‍योक्‍ता भारतीय रेलवे (Indian Railway) और सेना में नौकरियां ठेके और सिविल सेवा में लेटरिंग के नाम पर दी जाने लगेंगे तो युवा क्या करेंगे? क्या युवा पढ़ाई और चार वर्ष की संविदा नौकरी भविष्य में बीजेपी के पूंजीपति मित्रों के व्यवसायिक ठिकानों की रखवाली के लिए करेंगे? तेजस्वी यादव ने कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा- अग्नीपथ योजना के अंतर्गत शस्त्र चलाने का प्रशिक्षण प्राप्त कर कम अवधि की अस्थाई सेवा की हुई एक बड़ी आबादी 22 वर्ष की आयु में बेरोजगार हो जाएगी. क्या इससे देश में कानून-व्यवस्था संबंधी समस्या उत्पन्न नहीं होगी?

भाजपा और संघ पर लगाया आरोप
नेता प्रतिपक्ष ने कहा है की ठेकेदारी प्रथा के साथ संविधान प्रदत्त आरक्षण को समाप्त किया जा रहा है. रेलवे और लेटर एंट्री में ऐसा ही हो रहा है. अग्‍न‍िपथ योजना के तहत भाजपा और संघ अपने अनुषांगिक संगठनों के विचारों एवं घृणा से लैस लोगों को सरकारी खर्च पर ट्रेनिंग दिलाने को आतुर है.

बता दें कि बिहार में अग्‍न‍िपथ स्‍कीम को लेकर बुधवार को मुजफ्फरपुर, आरा, बक्‍सर, बेगूसराय समेत कुछ जिलों में विरोध-प्रदर्शन शुरू हुआ था. गुरुवार को कई जिलों में छात्र रोड पर उतर आए. आरा में छात्रों ने प्‍लेटफॉर्म संख्‍या चार पर बाइक में आग लगा दी, इस दौरान पथराव भी किया. नवादा में उग्र छात्रों ने विधायक की स्‍कॉर्पियो पर हमला कर दिया. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here