बिहार (Bihar) के कटिहार (Katihar) जिले में कुर्सेला प्रखंड में स्थित बलथी महेशपुर नामक गांव अपने घरों के छतों पर खास प्रकार के आकृतियों की बनावट के लिए मशहूर है।

घरों में छतों पर विशेष आकृति के कारण मशहूर है यह गांव

बलथी महेशपुर गांव के निवासी अपने घरों के छतों पर कुछ खास प्रकार की आकृति बनवाए होते है, जो देखने में काफी आकर्षित लगती है। इन्हीं खास प्रकार की आकृतियों के कारण इस गांव का चर्चा पूरे देश में होती है।

इन आकृतियों से मिली गांव को एक खास पहचान

इस गांव के लोग विभिन्न प्रकार की आकृतियों का शौक रखते है। जिस कारण वे अपने घरों की छतों पर सीमेंट की कुछ न कुछ आकृति बनवा लेते हैं। आज के समय में इन्हीं आकृतियों के कारण हीं पूरे देश में इस गांव को एक खास पहचान मिली है।

कब हुई इस गांव में घरों के छतों पर इन आकृतियों को बनाने की शुरुआत

इस गांव में सभी घरों के छतों पर विशेष प्रकार की आकृतियों की बनाने की शुरुआत कंसलटेंसी का काम करने वाले इसी गांव के रोमी खान ने की थी। दरअसल, कहानी यह है कि इसी गांव के मजदूर अशोक ने रोमी से उनके घर की छत पर सीमेंट कीबनवाने की गुजारिश की थी, जिसके बाद रोमी ने अपने घर के छत पर एयर इंडिया लिखा हुआ एक शानदार हवाई जहाज का मॉडल बनवा लिया था, जो देखने में काफी आकर्षित लगता था।

लोग एक दूसरे को देख करने लगे नकल

रोमी ने जैसे ही अपने घर के छत पर हवाई जहाज का model बनवाया उसी को देखते हुए उन्ही के पड़ोसी मुकेश गुप्ता ने भी अपनी छत पर भोले बाबा के वाहन नंदी बैल की आकृति सीमेंट से बनवा लिया। इसके बाद एक दूसरे को लोग देखकर अपने भी छत पर सीमेंट से विशेष आकृति बनवाने लगे और इस प्रकार इस गांव में सभी घरों के छतों पर एक से बढ़कर एक आकृति देखने को मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here