Corona Third Wave in India : केरल में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ने से शुरू हो गये हैं. आशंका जतायी जाने लगी है कि कहीं यह केरल में तीसरी लहर का आगाज तो नहीं? केरल सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 18,531 नये मामले सामने आये हैं. जबकि, 15,507 लोग ठीक हुए हैं और 98 की मौत हुई है. राज्य में कोरोना का इलाज करा रहे लोगों की संख्या बढ़ कर 1.38 लाख तक पहुंच गयी है. बता दें कि केरल में जून महीने के आखिरी सप्ताह में कोरोना के दैनिक नये मामले घट कर साढ़े 11 हजार तक आ गये थे.

एक दिन पहले यानी शुक्रवार को केरल में 17,518 नये मामले सामने आये. हालांकि, राज्य में जांच में संक्रमित पाये जाने की दर (पॉजिटिविटी रेट) 12% के नीचे रही. केरल में कई सप्ताह तक पॉजिटिविटी रेट 11% से नीचे रहने के बाद 19 जुलाई को इसके पार हो गया. लगातार बढ़ने के साथ यह 23 जुलाई को 13.63 फीसदी तक पहुंच गया था.

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि उनका विभाग कोविड की तीसरी लहर से निबटने की तैयारी पर भी ध्यान दे रहा है. इसके मद्देनजर अस्पतालों को जरूरी सुविधाओं से लैस किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि अगले पांच सालों में राज्य में जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों को कम करने के प्रयास किये जायेंगे.

केरल में जीका वायरस संक्रमण के दो नए मामले : केरल में दो और लोग जीका वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिसके साथ ही इस संक्रमण की चपेट में आने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 46 पर पहुंच गई है. इनमें से पांच मरीज का इलाज चल रहा है. इस संबंध में राज्य सरकार का बयान सामने आया है जिसके मुताबिक, तिरुवंनतपुरम के कुमारपुरम में 42 वर्षीय महिला और कोल्लम जिले के कोट्टारक्कारा में 30 वर्षीय महिला में जीका वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है.

ट्रेन से हरिद्वार आने वालों के लिए निगेटिव रिपोर्ट जरूरी : कोविड-19 के खतरे को देखते हुए रेलवे ने ट्रेनों से हरिद्वार पहुंचने वाले यात्रियों के लिए ट्रेवल गाइडलाइन लागू कर दी है. इसमें यात्रियों को 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी. बिना रिपोर्ट के कोई भी यात्री यात्रा नहीं कर सकेगा. यात्रियों को दून स्मार्ट सिटी के वेबसाइट पर पंजीकरण भी कराना होगा. वहीं, कांवड़ यात्रा स्थगित होने के बाद श्रद्धालुओं को रोकने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. इधर, यूपी के मथुरा में भी 19 सितंबर तक निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है.

तमिलनाडु ने केरल से लगी सीमा पर निगरानी बढ़ायी : तमिलनाडु सरकार ने केरल से लगी अपनी सीमाओं पर निगरानी बढ़ा दी है. तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने कहा कि केरल की तरफ से आनेवालों पर नजर रखी जा रही है. जांच के लिए सीमा पर स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here